त्रिपुरा के लाभार्थियों को PM मोदी का तोहफा, PMAY-G की पहली किस्त की ट्रांसफर
त्रिपुरा के लाभार्थियों को PM मोदी का तोहफाSocial Media

त्रिपुरा के लाभार्थियों को PM मोदी का तोहफा, PMAY-G की पहली किस्त की ट्रांसफर

त्रिपुरा के 1.47 लाख से अधिक लाभार्थियों के लिए PM मोदी द्वारा आज प्रधानमंत्री आवास योजना- ग्रामीण (PMAY-G) की पहली किस्त ट्रांसफर की गई और संबोधन में कही ये बातें...

दिल्ली, भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आज रविवार को त्रिपुरा के 1.47 लाख से अधिक लाभार्थियों को बड़ा तोहफा दिया है। उन्‍होंने लाभार्थियों के बैंक अकाउंट में प्रधानमंत्री आवास योजना- ग्रामीण (PMAY-G) की पहली किस्त ट्रांसफर की। इस कार्यक्रम में त्रिपुरा के मुख्यमंत्री Biplab Kumar Deb मौजूद रहे।

PM मोदी ने संबोधन में कहा :

तो वहीं, कार्यक्रम के दौरान PM नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा- हमारी यही कोशिश है कि देश के सामान्य मानवी को किसी भी योजना के लिए न तो भटकना पड़े और न ही उसके पैसे को किसी बिचौलिए द्वारा छीना जाए। प्रधानमंत्री आवास योजना में पारदर्शी ढंग से चयन, घरों की जिओ टैगिंग, ग्रामसभा में नाम का ऐलान, निष्पक्ष सर्वे और DBT इसी सोच का हिस्सा है। आपको पहले की सरकारें भी याद होंगी, जहां कट कल्चर के बिना कोई काम ही नहीं होता था।

त्रिपुरा के साथियों से बात करके मेरा विश्वास और बढ़ गया है। विकास की ये चमक, अपने घर और सम्मानपूर्ण जीवन का ये आत्मविश्वास त्रिपुरा और समूचे पूर्वोत्तर को बहुत ऊंचाई तक ले जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

PM मोदी द्वारा कही गई प्रमुख बातें-

  • अब त्रिपुरा को गरीब बनाए रखने वाली, त्रिपुरा के लोगों को सुख-सुविधाओं से दूर रखने वाली सोच की त्रिपुरा में कोई जगह नहीं है। अब यहां डबल इंजन की सरकार पूरी ताकत से, पूरी ईमानदारी से राज्य के विकास में जुटी है।

  • अब अगरतला और दिल्ली दोनों एक साथ मिलकर त्रिपुरा के विकास के लिए नीतियां बनाते हैं और परिणाम लेकर आते हैं। बीते चार वर्षों में त्रिपुरा के गावों में करीब 50 हजार परिवारों को पीएम आवास योजना के तहत पक्के घर बनाकर दिए जा चुके हैं।

  • भारत के विकास में, आत्मविश्वास से भरी हुई भारत की महिला शक्ति का बहुत बड़ा योगदान है। इस महिला शक्ति का बहुत बड़ा प्रतीक, हमारे महिला सेल्फ हेल्प ग्रुप भी हैं।

  • हमने सेल्फ हेल्प ग्रुप में काम करने वाली बहनों को जन धन खातों के माध्यम से बैंकिंग सिस्टम से जोड़ा है। हर सेल्फ हेल्प ग्रुप को पहले जहां 10 लाख रुपये तक का बिना गारंटी का ऋण मिलता था, अब वह राशि बढ़ाकर 20 लाख रुपये कर दी गई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co