PMFBY के 5 साल पूरे- स्कीम को लेकर PM मोदी ने किसानों के लिए कही ये बात...
PMFBY के 5 साल पूरे- स्कीम को लेकर PM मोदी ने किसानों के लिए कही ये बात...Priyanka Sahu -RE

PMFBY के 5 साल पूरे- स्कीम को लेकर PM मोदी ने किसानों के लिए कही ये बात...

PM फसल बीमा योजना के पांच वर्ष पूरे होने पर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर इस योजना के लाभार्थियों को बधाई दी और ये बात कही...

दिल्‍ली, भारत। केंद्र सरकार द्वारा किसानों की सुरक्षा व देश के किसानों के लिए फसलों के जोखिम कवरेज को मजबूत करने के लिए शुरू की गई 'PM फसल बीमा योजना' (PMFBY) को आज 13 जनवरी को पांच वर्ष पूरे होने को आए है। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर इस योजना के लाभार्थियों को बधाई दी और ये बात कही।

करोड़ों किसानों को लाभ हुआ :

पीएम फसल बीमा योजना के 5 साल पूरे होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाभार्थियों को बधाई देते हुए देश के किसानों से प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY) का लाभ उठाने की अपील की है। PM मोदी ने ट्वीट कर लिखा, ''देश के अन्नदाताओं को प्रकृति के प्रकोप से सुरक्षा प्रदान करने वाली पीएम फसल बीमा योजना के आज 5 साल पूरे हो गए हैं। इस स्कीम के तहत नुकसान का कवरेज बढ़ने और जोखिम कम होने से करोड़ों किसानों को लाभ हुआ है। इसके सभी लाभार्थियों को मेरी बहुत-बहुत बधाई।''

इसके इलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक अन्‍य ट्वीट में कहा- पीएम फसल बीमा योजना ने कैसे किसानों को अधिक से अधिक लाभ सुनिश्चित किया है? दावों के निस्तारण में कैसे पूरी पारदर्शिता बरती गई है? PM-FBY से संबंधित ऐसी सभी जानकारियां NaMo App के Your Voice सेक्शन में रखी गई हैं। जानें और शेयर करें।

केंद्रीय कृषि मंत्रालय ने दावा

तो वहीं, इस योजना को लेकर केंद्रीय कृषि मंत्रालय ने ये दावा किया है कि, ''13 जनवरी, 2016 को लॉन्‍च होने के बाद से अबतक इस योजना के तहत किसानों के 90,000 करोड़ रुपये के दावों का पेमेंट किया गया है। कोरोना वायरस लॉकडाउन के दौरान भी लगभग 70 लाख किसानों ने इस योजना का लाभ उठाया, लाभार्थियों को 8741.30 करोड़ रुपये प्रदान किए गए।''

बता दें कि, देश की मोदी सरकार ने 5 वर्ष पहले यानी वर्ष 2016 में आज ही तारीख 13 जनवरी को 'प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना' की शुरुआत की थी। देश भर में किसानों को सबसे कम समान प्रीमियम पर एक व्यापक जोखिम समाधान प्रदान करने के लिए एक उल्लेखनीय पहल के रूप में इस योजना की परिकल्पना की गई थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co