CAG कार्यालय में PM मोदी- सरदार पटेल की प्रतिमा का किया अनावरण

दिल्ली में CAG कार्यालय में पहले ऑडिट दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा-एक संस्थान के रूप में सीएजी अपने आप में एक विरासत है।
CAG कार्यालय में PM मोदी- सरदार पटेल की प्रतिमा का किया अनावरण
CAG कार्यालय में PM मोदी Priyanka Sahu -RE

दिल्ली, भारत। पहले ऑडिट दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज मंगलवार को नई दिल्ली में सीएजी कार्यालय में पहुंचे, इस अवसर पर उन्‍होंने कैग कार्यालय में देश के पहले गृहमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा का अनावरण किया। साथ ही कार्यक्रम को संबोधित किया।

लेखा परीक्षा दिवस हमारे सुधार और सुधार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है :

PM मोदी ने अपने संबोधन में कहा- आप सभी को ऑडिट दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं। एक संस्था के रूप में सीएजी न सिर्फ देश के खातों का हिसाब किताब चैक करता है, बल्कि उत्पादकता में, efficiency में value education भी करता है। सीएजी न केवल राष्ट्र के खातों पर नजर रखता है, बल्कि उत्पादकता और दक्षता में भी मूल्य जोड़ता है। इस प्रकार, लेखा परीक्षा दिवस हमारे सुधार और सुधार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है।

एक संस्थान के रूप में सीएजी अपने आप में एक विरासत है। इसकी रक्षा करना और इसे बेहतर बनाना हर पीढ़ी का कर्तव्य है। यह एक बड़ी जिम्मेदारी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

PM मोदी द्वारा कही गईं बातें-

  • आज हमें देश की अखंडता के नायक सरदार पटेल की प्रतिमा के अनावरण का अवसर मिला है। गांधी जी हों, सरदार पटेल हों, या बाबा साहेब अंबेडकर, राष्ट्र निर्माण में इन सभी का योगदान सीएजी के लिए, हम सभी के लिए, कोटि-कोटि देशवासियों के लिए बहुत बड़ी प्रेरणा है।

  • एक समय था, जब देश में ऑडिट को एक आशंका, एक भय के साथ देखा जाता था। ‘CAG बनाम सरकार’, ये हमारी व्यवस्था की सामान्य सोच बन गई थी। लेकिन आज इस मानसिकता को बदला गया है। आज ऑडिट को वैल्यू एडिशन का अहम हिस्सा माना जा रहा है।

  • हमने 'कैग बनाम सरकार' की क्षणभंगुर भावना को बदल दिया है। आज, ऑडिट को मूल्यवर्धन के प्रमुख भागों में से एक माना जाता है।

  • सरकार के काम का विश्लेषण करते समय सीएजी को बाहरी दृष्टिकोण का लाभ मिलता है। हम प्रणालीगत सुधार के लिए सीएजी के सुझावों को लेते हैं।

  • हमने पूरी ईमानदारी के साथ पिछली सरकारों का सच, वो चाहे जो भी स्थिति थी, उसे देश के सामने रखा है। हम समस्याओं को पहचानेंगे, तभी तो समाधान तलाश पाएंगे।

  • कैग नियमित रूप से राजकोषीय घाटे और सरकारी खर्च के बारे में चेतावनी देता था। हमने आपकी चेतावनियों को सकारात्मक तरीके से लिया और अप्रयुक्त और कम उपयोग वाले तत्वों से कमाई करने का निर्णय लिया। ऐसे कई फैसलों से भारत की अर्थव्यवस्था फिर से रफ्तार पकड़ रही है।

  • न्यूनतम सरकार, अधिकतम शासन, संपर्क रहित रीति-रिवाज, स्वचालित नवीनीकरण, फेसलेस मूल्यांकन और सेवा वितरण के लिए ऑनलाइन आवेदन - इन सभी सुधारों ने अनावश्यक सरकारी हस्तक्षेप को समाप्त कर दिया है।

  • आज भारत पूरी दुनिया में तीसरा सबसे बड़ा स्टार्टअप इकोसिस्टम बन चुका है। आज 50 से ज्यादा हमारे भारतीय यूनिकॉर्न खड़े हो चुके हैं। भारतीय IITs आज चौथे सबसे बड़े यूनिकॉर्न प्रोड्यूसर बन कर उभरे हैं।

  • आज, सीएजी उन्नत विश्लेषिकी उपकरण, भू-स्थानिक डेटा और उपग्रह इमेजरी का उपयोग कर रहा है। इस तरह के नवाचार हमारे संसाधनों और कार्य प्रक्रियाओं का भी हिस्सा होने चाहिए।

  • हमारा ऑडिटिंग जितना मजबूत और वैज्ञानिक होगा, हमारा प्रशासन उतना ही मजबूत और पारदर्शी होगा। CAG ने COVID के दौरान एक समर्पित दृष्टिकोण के साथ काम किया। महामारी से लड़ने के लिए हमारे पास अद्वितीय सामाजिक शक्ति थी।

  • सदी की सबसे बड़ी महामारी जितनी चुनौतीपूर्ण थी, उतनी ही इसके खिलाफ देश की लड़ाई भी असाधारण रही है। आज हम दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान चला रहे हैं। कुछ सप्ताह पहले देश ने 100 करोड़ वैक्सीन डोज का पड़ाव पार किया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co