Omicron के बढ़ते मामलों पर PM मोदी ने की उच्च स्तरीय बैठक
PM मोदी ने की उच्च स्तरीय बैठक Social Media

Omicron के बढ़ते मामलों पर PM मोदी ने की उच्च स्तरीय बैठक

भारत में Omicron का खौफ बढ़ता नजर आरहा है। इसी बीच, इस बात की चिंता जताते हुए आज गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक अहम उच्च स्तरीय बैठक की।

राज एक्सप्रेस। आज भले ही पूरी दुनिया में कोरोना का कहर हल्का पड़ता नजर आरहा है, लेकिन इसी बीच अब भारत में दक्षिणी अफ्रीका से फैलना शुरू हुए कोरोना वायरस के नए ओमिक्रॉन (Omicron) वेरिएंट मिलने से सनसनी फैल गई है। भारत में Omicron का खौफ एक बार फिर ठीक उसी तरह बढ़ता नजर आरहा है जिस तरह अन्य वेरिएंट्स का कहर बढ़ा था। इसी बीच, अब यह देश के कई राज्यों में अपने पैर पसारता जा रहा है। इस बात की चिंता जताते हुए आज गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक अहम उच्च स्तरीय बैठक की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उच्च स्तरीय बैठक :

दरअसल, देश में अब कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के मामलों में भी तेजी से बढ़त दर्ज की जा रही है। जिसको लेकर केंद्र सरकार को चिंता सताने लगी है। इसी चिंता के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार की शाम देश में कोरोना की वर्तमान स्थिति पर चर्चा करने के लिए एक समीक्षा बैठक की। इस बैठक में PM मोदी के साथ वरिष्ठ अधिकारियों और विशेषज्ञों की टीम शामिल हुई। इस उच्च स्तरीय बैठकके दौरान PM मोदी ने देश भर में कोरोना महामारी की स्थिति का जायजा लिया। PM मोदी ने बैठक के दौरान ही देश भर में ओमिक्रॉन और स्वास्थ्य प्रणालियों की तैयारियों की समीक्षा की।

PM मोदी का कहना :

इस बैठक के दौरान जायजा लेकर PM मोदी ने कहा कि, 'कोरोना के नए वैरिएंट को देखते हुए हमें सतर्क और सावधान रहने की जरूरत है। नए वैरिएंट को देखते हुए हमें सतर्क और सावधान होना चाहिए। सरकार सतर्क है। बीमारी की रोकथाम और प्रबंधन के लिए केंद्र सरकार राज्यों का पूरा सहयोग कर रही है। तत्काल और प्रभावी कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग, टेस्टिंग में तेजी, टीकाकरण में तेजी लाना और स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे को मज़बूत करने पर ध्यान केंद्रित किया जाना चाहिए। नए संस्करण को देखते हुए हमें सतर्क और सावधान होना चाहिए।'

PM का फोकस तीन अहम जरूरतों पर :

खबरों की मानें तो, बैठक के दौरान PM मोदी का फोकस कोरोना के नए वैरिएंट के बढ़ते मामलों पर लगाम लगाने के लिए तीन अहम जरूरतों पर रहा।

  • पहली- ऑक्सीजन की उपलब्धता

  • दूसरी- दवाओं का पर्याप्त स्टॉक

  • तीसरी सबसे अहम बात- टीककारण

PM मोदी ने ली हालात की जानकारी :

इस बैठक के दौरान PM मोदी ने अब तक के हालात की जानकारी ली। PM मोदी ने अफसरों को दवाई और ऑक्सीजन के स्टॉक को बेहतर करने के निर्देश दिए। साथ ही बैठक में कोरोना प्रबंधन से जुड़े सभी उच्च अधिकारी शामिल हुए। स्वास्थ्य मंत्रालय बैठक में ओमिक्रॉन के नए मरीजों, लक्षण और अत्यधिक संक्रामक होने के बारे में जानकारी दी गई। बैठक में हालात से निपटने के लिए राज्यों के साथ मिलकर बनाई जा रही योजनाओं पर भी चर्चा कि गई। बता दें, देश में Omicron कि एंट्री के बाद PM मोदी की यह दूसरी समीक्षा बैठक है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी जानकारी :

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को ओमिक्रोन को लेकर जानकारी देते हुए बताया कि, 'यह डेल्टा वैरिएंट की तुलना में कम से कम तीन गुना तेजी से फैलता है। इसे लेकर स्थानीय और जिला स्तर पर प्रबंधन का निर्देश दिया गया है। मंत्रालय ने इसके खिलाफ 'वार रूम', सक्रिय करने, सक्रिय कदम उठाने और नाइट कर्फ्यू लगाने जैसे कदमों का सुझाव दिया है।' केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्यों को पत्र लिख कर कहा है कि, 'ओमिक्रॉन के बढ़ते प्रसार को रोकने के लिए सख्त रणनीतिक उपाय किए जाएं। शादी-विवाह और अंतिम संस्कार आदि में संख्या सीमित करने व आपातकालीन केंद्रों को सक्रिय करने की सलाह भी शामिल है। कोविड नमूनों की जीनोम सीक्वेंसिंग कराने भी सलाह दी गई है।'

बैठक में शामिल हुए लोग :

प्रधानमंत्री ने बैठक में जिला स्तर पर स्वास्थ्य प्रणाली मजबूत, परीक्षण और टीकाकरण में तेजी लाने के निर्देश भी दिये। प्रधानमंत्री ने केंद्रीय अधिकारियों को कमजोर स्वास्थ्य बुनियादी ढांचा वाले राज्यों में केंद्रीय दल भेजने को भी कहा। बता दें, इस दौरान बैठक में नीति आयोग के स्वास्थ्य सदस्य डा. वी के पाल, गृह सचिव एके भल्ला, स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण, फार्मास्युटिकल सचिव डॉ राजेश गोखले, भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के महानिदेशक डॉ. बलराम भार्गव, आयुष सचिव वैद्य राजेश कोटेचा, शहरी विकास सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी आरएस शर्मा. और केंद्र सरकार के प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार के. विजय राघवन तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co