प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीSocial Media

आज आजादी के अमृतकाल में अब देश नई ऊर्जा के साथ चीतों के पुनर्वास के लिए जुट गया है: PM मोदी

पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने आज शनिवार को अपने जन्मदिन पर मध्य प्रदेश के कुनो राष्ट्रीय उद्यान में बने विशेष बाड़े में नामीबिया से हवाई मार्ग से लाए गए चीतों को छोड़ दिया।

राज एक्सप्रेस। दक्षिण अफ्रिका के नामीबिया से 8 चीतों को भारत लाया गया है, जिन्हें आज शनिवार सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) द्वारा मध्य प्रदेश के कूनो नेशनल पार्क (Kuno National Park) में छोड़ा गया। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी को संबोधित किया।

नरेंद्र मोदी ने सभी को किया संबोधित:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस खास मौके पर कहा कि, "मानवता के सामने ऐसे अवसर बहुत कम आते हैं, जब समय का चक्र हमें अतीत को सुधारकर नए भविष्य के निर्माण का मौका देता है। आज सौभाग्य से हमारे सामने एक ऐसा ही क्षण है।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि, "दशकों पहले जैव-विविधता की सदियों पुरानी जो कड़ी टूट गई थी, विलुप्त हो गई थी, आज हमें उसे फिर से जोड़ने का मौका मिला है। आज भारत की धरती पर चीते लौट आए हैं। मैं ये भी कहूँगा कि, इन चीतों के साथ ही भारत की प्रकृतिप्रेमी चेतना भी पूरी शक्ति से जागृत हो उठी है।"

पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि, "मैं हमारे मित्र देश नामीबिया और वहाँ की सरकार का भी धन्यवाद करता हूँ, जिनके सहयोग से दशकों बाद चीते भारत की धरती पर वापस लौटे हैं। मुझे विश्वास है कि, ये चीतें ना केवल प्रकृति के प्रति हमारी जिम्मेदारियों का बोध कराएंगे, बल्कि हमारे मानवीय मूल्यों और परंपराओं से भी अवगत कराएंगे।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगे कहा कि, "ये दुर्भाग्य रहा कि हमने 1952 में चीतों को देश से विलुप्त तो घोषित कर दिया, लेकिन उनके पुनर्वास के लिए दशकों तक कोई सार्थक प्रयास नहीं हुआ। आज आजादी के अमृतकाल में अब देश नई ऊर्जा के साथ चीतों के पुनर्वास के लिए जुट गया है।"

नरेंद्र मोदी ने कहा कि, "कुनो नेशनल पार्क में जब चीते फिर से दौड़ेंगे, तो यहां का ग्रासलैंड इकोसिस्टम फिर से बहाल होगा, जैव विविधता और बढ़ेगी। आने वाले दिनों में यहां पर्यावरण पर्यटन भी बढ़ेगा। यहां विकास की नई संभावनाएं जन्म लेंगी।"

उन्होंने कहा कि, "कुनो नेशनल पार्क में इन चीतों को देखने के लिए लोगों को धैर्य दिखाना होगा और कुछ महीनों तक इंतजार करना होगा। आज ये चीते मेहमान बनकर आए हैं। कुनो राष्ट्रीय उद्यान को अपना घर बनाने में सक्षम होने के लिए हमें इन चीतों को कुछ महीने का समय देना होगा।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि, "अंतरराष्ट्रीय गाइडलाइन्स पर चलते हुए भारत इन चीतों को बसाने की पूरी कोशिश कर रहा है। हमें अपने प्रयासों को विफल नहीं होने देना है।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co