अटल बिहारी की 96वीं जयंती पर 'सदैव अटल समाधि' स्‍थल पर पुष्पांजलि कार्यक्रम
अटल बिहारी की 96वीं जयंती पर 'सदैव अटल समाधि' स्‍थल पर पुष्पांजलि कार्यक्रमTwitter

अटल बिहारी की 96वीं जयंती पर 'सदैव अटल समाधि' स्‍थल पर पुष्पांजलि कार्यक्रम

अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती पर उनके समाधि स्‍थल पहुंचकर राष्‍ट्रपति, प्रधानमंत्री, गृह मंत्री, रक्षा मंत्री समेत गणमान्‍य हस्तियों ने पुष्पांजलि अर्पित की...

दिल्‍ली, भारत। भारत के सबसे लोकप्रिय राजनेताओं में से एक पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न 'अटल बिहारी वाजपेयी' की आज 25 दिसंबर को जयंती है। इस मौके पर अटल बिहारी वाजपेजी के समाधि स्थल 'सदैव अटल' पर श्रद्धांजलि कार्यक्रम रखा गया, जिसमें प्रधानमंत्री, राष्‍ट्रपति सहित गणमान्‍य हस्तियां पहुंंची।

सदैव अटल समाधि पर PM मोदी ने अर्पित की पुष्पांजलि :

PM मोदी का लुक थोड़ा बदला हुआ नजर आया, दिल्‍ली में खासी ठंड होने की वजह से वह एक अलग तरह की टोपी लगाए नजर आए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती पर सदैव अटल समाधि पर पुष्पांजलि दी। इसके अलावा उन्‍होंने अपने ट्वीट में ये भी कहा कि, ’’वाजपेयी के दूरदर्शी नेतृत्व ने देश को विकास की अभूतपूर्व ऊंचाइयों पर पहुंचाया। पूर्व प्रधानमंत्री आदरणीय अटल बिहारी वाजपेयी जी को उनकी जन्म-जयंती पर शत-शत नमन। एक सशक्त और समृद्ध भारत के निर्माण के लिए उनके प्रयासों को सदैव स्मरण किया जाएगा।’’

राष्ट्रपति ने अर्पित की पुष्पांजलि :

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती पर उनके समाधि स्‍थल 'सदैव अटल' पहुंचकर उन्‍हें पुष्‍पांजलि अर्पित कर नमन किया।

गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और रेल मंत्री पीयूष गोयल समेत केंद्र सरकार के कई मंत्रियों ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के समाधि स्‍थल पर श्रद्धांजलि दी।

बता दें कि, अटल बिहारी वाजपेयी जी को भारत माँ के सच्चे सपूत, राष्ट्र पुरुष, राष्ट्र मार्गदर्शक, सच्चे देशभक्त ना जाने कितनी उपाधियों से पुकारा जाता है। उनका जन्म 25 दिसंबर, 1924 को मध्य प्रदेश के ग्वालियर में एक स्कूल शिक्षक के परिवार में हुआ और वर्ष 2018 में 16 अगस्त को दिल्ली के एम्स में आखिरी सांस ली थी। अटल बिहारी वाजपेयी जी एक अच्छे इंसान थे और लोगों के दिलों में अपनी खास जगह बनायी थी, उनके जीवन से जुड़े कुछ खास किस्‍सों से रूबरू होने के लिए आप इस लिंक पर क्लिक करें

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co