सहकार टैक्सी सेवा शुरू करने की तैयारी
सहकार टैक्सी सेवा शुरू करने की तैयारीSocial Media

सहकार टैक्सी सेवा शुरू करने की तैयारी

देश में सहकारिता को बढ़ावा देते हुये भारतीय राष्ट्रीय पर्यटन एवं परिवहन सहकारी संघ मर्यादित ने युवाओं को रोजगार प्रदान करने के लिए कई योजनायें तैयार की है, जिसमें सहकार टैक्सी सेवा भी शामिल है।

नई दिल्ली। देश में सहकारिता को बढ़ावा देते हुये भारतीय राष्ट्रीय पर्यटन एवं परिवहन सहकारी संघ मर्यादित (एनएफटीसी) ने युवाओं को रोजगार प्रदान करने के लिए कई योजनायें तैयार की है,जिसमें सहकार टैक्सी सेवा भी शामिल है।

एनएफटीसी के राजधानी में नये केन्द्रीय कार्यालय के शुभारंभ के अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की इकाई सहकार भारती के अध्यक्ष डी.एन. ठाकुर ने कहा कि सहकारिता से ही देश का संपूर्ण विकास संभव है। इसी को आधार बनाकर अब सहकार के जरिये न सिर्फ युवाओं को रोजगार प्रदान करने की व्यवस्था की जा रही है, बल्कि उन्हें आर्थिक रूप से भी सशक्त बनाने की तैयारियां भी चल रही है।

इस अवसर पर एनएफटीसी के वीवी पी नायर ने कहा कि एनएफटीसी नित नए-नए कीर्तिमान बनाते हुए देश का नंबर वन कॉपरेटिव बनने की दिशा में आगे बढ़ रहा है। एनएफटीसी का लक्ष्य है कि अगले दो सालों में स्वदेशी और भारतीयता को बरकरार रखते हुए लाखों युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराना। यह सहकारी संगठन राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और पंडित दीन दयाल उपाध्याय के सशक्त भारत बनाने की परिकल्पना को मजबूती के साथ आगे बढ़ा रहा है। एनएफटीसी अपने इस सपने को आगे बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार के सभी संबंधित मंत्रालय और प्रधानमंत्री की नीतियों के मताहत काम कर रही है। एनएफटीसी अगले कुछ सालों में ग्रासरूट लेवल यानी पंचायत, प्रखंड और वार्ड लेवल पर जा कर काम करेगी।

उन्होंने कहा कि नेशनल टूरिज्म एवं ट्रांसपोर्ट कॉपरेटिव के जरिए हम अगले एक साल में लाखों लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने जा रहे हैं। ओला-उबर की तरह ही हम स्वदेशी मॉडल पर एक ट्रांसपोर्ट सर्विस शुरू करने जा रहे हैं, जो इन विदेशी टांसपोर्ट प्रोवाइडर कंपनियों से काफी सस्ती और रियायत दरों पर उपलब्ध होंगी। इसमें खास बात यह होगी ड्राइवरों को ज्यादा से ज्यादा फायदा होगा। आमदानी का एक बड़ा हिस्सा ड्राइवरों को मिलेगा और इस सेवा से जुड़े लोग जैसे- ड्राइवर, मैकेनिक, इंश्योरेंस वाले सभी लाभान्वित होंगे।

केंद्र सरकार के सहयोग से शुरू होने वाले इस ट्रंसपोर्ट सर्विस के जरिए एनएफटीसी अगले कुछ सालों में 10 लाख से भी ज्यादा लोगों को रोजगार देगी, जिसमें तकरबीन 40 लाख लोग डायरेक्ट और इनडायरेक्ट तरीके से लाभ होगा। नेशनल टूरिज्म ट्रांसपोर्ट कॉपरेटिव फैडरेनशन के तहत यह संस्था रुरल और अनटचेबल टुरिस्ट स्पॉट को टूरिज्म के तौर पर बढ़ावा देने जा रही है। फिलहाल केरल, हिमाचल प्रदेश और गोवा जैसे कुछ स्थानों में ही टूरिस्ट आते हैं, लेकिन एनफटीसी अब देश के सुदूर क्षेत्रों में भी जहां टूरिज्म का स्कोप है, लेकिन अभी तक किसी कारण टूरिज्म स्पॉट नहीं बन पाया है, वैसे जगहों को चिन्हित कर वहां पर केंद्र सरकार की मदद से टूरिज्म के लिए काम करेगी। इससे लाखों लोगों को रोजगार तो मिलेगा ही साथ ही देश में नए-नए टूरिज्म स्पॉट बन कर भी तैयार होंगे. निकट भविष्य में यह स्पॉट सैलानियों का आकर्षण का केंद्र बनेगा।

यह सहकारिता संगठन ट्रेवल टूरिज्म के साथ-साथ सहकारी कुरियर सर्विस के जरिए राज्यों के ट्रांसपोर्ट डिपो के साथ मिल कर एक कुरियर सर्विस चालू करेगी, जिससे कम से कम अगले एक-दो सालों में दो लाख लोगों को रोजगार मिलेगा,आपको बता दें कि सहकार टैक्सी, सहकार जल, सहकार रेस्टोरेंट, सहकार फूड सेवा के जरिए एनएफटीसी कई लाख नौकरियां अगले एक दो सालों में जेनरेट करने जा रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co