राष्ट्रपति मुर्मू ने लॉन्च किया स्वदेशी INS विंध्यगिरि
राष्ट्रपति मुर्मू ने लॉन्च किया स्वदेशी INS विंध्यगिरिSyed Dabeer Hussain - RE

राष्ट्रपति मुर्मू ने लॉन्च किया स्वदेशी INS विंध्यगिरि, जानिए कितना खतरनाक है यह जंगी जहाज?

भारतीय नौसेना के लिए बनाया गया आईएनएस विंध्यगिरि एक बेहद आधुनिक और घातक जंगी जहाज है। इसे कोलकाता की गार्डन रीच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स लिमिटेड द्वारा तैयार किया गया है।

हाइलाइट्स :

  • राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने कोलकाता में हुगली नदी के किनारे आईएनएस विंध्यगिरि को लॉन्च किया।

  • भारतीय नौसेना के लिए बनाया गया आईएनएस विंध्यगिरि एक बेहद आधुनिक और घातक जंगी जहाज है।

  • कोलकाता की गार्डन रीच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स लिमिटेड द्वारा तैयार किया गया है।

राज एक्सप्रेस। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने अपनी पश्चिम बंगाल यात्रा के दौरान कोलकाता में हुगली नदी के किनारे आईएनएस विंध्यगिरि को लॉन्च किया। इस दौरान पश्चिम बंगाल के राज्यपाल सीवी आनंद बोस और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी वहां मौजूद थी। भारतीय नौसेना के लिए बनाया गया आईएनएस विंध्यगिरि एक बेहद आधुनिक और घातक जंगी जहाज है। इसे कोलकाता की गार्डन रीच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स लिमिटेड द्वारा तैयार किया गया है। आईएनएस विंध्यगिरि के भारतीय नौसेना में शामिल होने से उसकी ताकत में इजाफा होगा। तो चलिए जानते हैं कि आईएनएस विंध्यगिरि भारतीय नौसेना के लिए किस तरह से फायदेमंद साबित होगा।

10 हजार किलोमीटर की रेंज

आपको बता दें कि आईएनएस विंध्यगिरि करीब 488 फीट लम्बा है। इसका बीम 58.7 फीट है। इसका वजन 6670 टन है। इसमें दो डीजल इंजन जबकि दो जनरल इलेक्ट्रिक इंजन लगे हुए हैं। इसमें 35 अधिकारियों सहित 226 नौसैनिक एक बार में तैनात हो सकते हैं। इसकी अधिकतम गति 52 किलोमीटर प्रति घंटा है। इस गति से विंध्यगिरि की रेंज 4600 किलोमीटर है, वहीं इसकी गति को 30 किलोमीटर प्रति घंटा के आसपास रखा जाए तो इसकी रेंज बढ़कर 10200 किलोमीटर तक जा सकती है।

घातक मिसाइलों से लैस है विंध्यगिरि

आईएनएस विंध्यगिरि पर एंटी-सबमरीन रॉकेट लॉन्चर्स लगे हैं, जिससे 72 रॉकेट्स दागे जा सकते हैं। इनमें दुश्मन देश के जहाजों और हेलिकॉप्टर को तबाह करने की ताकत है। वहीं इसमें मेलारा नौसैनिक गन भी तैनात रहेगी। साथ ही इस वॉरशिप में 4x8 सेल वाले वर्टिकल लॉन्च सिस्टम लगे हैं। इनकी मदद से 32 बराक-8 मिसाइल लॉन्च कर दुश्मन के जहाज को हवा में ही तबाह किया जा सकेगा। इससे देश की घातक मिसाइल ब्रह्मोस को भी लॉन्च किया जा सकता है। आईएनएस विंध्यगिरि पर दो हेलिकॉप्टर भी तैनात रहेंगे। इसके अलावा इमरजेंसी के तौर पर दो बोट्स भी तैनात रहेगी।

स्वदेशी है आईएनएस विंध्यगिरि

आईएनएस विंध्यगिरि की एक खासियत यह भी है कि इसे भारत में ही बनाया गया है। यहीं नहीं इसके 75 फीसदी पार्ट्स भी स्वदेशी कंपनियों के द्वारा ही बनाए गए हैं। हालांकि नौसेना में शामिल करने से पहले इसके कई ट्रायल्स किए जाएंगे।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co