NIT राउरकेला समारोह: राष्ट्रपति ने छात्रों को दी अपने जीवन के लिए अहम सलाह
NIT राउरकेला समारोह: राष्ट्रपति ने छात्रों को दी अपने जीवन के लिए अहम सलाहTwitter Video

NIT राउरकेला समारोह: राष्ट्रपति ने छात्रों को दी अपने जीवन के लिए अहम सलाह

ओडिशा में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, आज उन्‍होंने राउरकेला स्टील प्लांट में एनआईटी राउरकेला के 18वें वार्षिक दीक्षांत समारोह को संबोधित कर अपने संबोधन में कही ये बातें...

ओडिशा, भारत। देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ओडिशा में है, इस दौरान उन्‍होंने आज 21 मार्च को राउरकेला स्टील प्लांट में एनआईटी राउरकेला के 18वें वार्षिक दीक्षांत समारोह को संबोधित किया।

ओडिशा स्वतंत्रता के बाद हमारे राष्ट्र के पुनर्निर्माण से जुड़ा :

एनआईटी राउरकेला के दीक्षांत समारोह में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा- आज का ओडिशा का यह क्षेत्र इतिहास और संस्कृति में काफी समृद्ध रहा है। यह शुरुआती समय से ही वैज्ञानिक दृष्टिकोण का पालना रहा है। लगभग 800 साल पहले निर्मित कोणार्क का सूर्य मंदिर कला और विज्ञान के आदर्श मिश्रण का एक उदाहरण है। ओडिशा स्वतंत्रता के बाद हमारे राष्ट्र के पुनर्निर्माण से जुड़ा है। राउरकेला में भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ। राजेंद्र प्रसाद ने भारत के एक बड़े स्टील प्लांट के पहले ब्लास्ट फर्नेस को समर्पित किया।

NIT राउरकेला ने इस क्षेत्र में दिया महत्वपूर्ण योगदान :

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा, ''पूर्वी भारत में सरकार के दूसरे सबसे बड़े प्रौद्योगिकी संस्थान के रूप में एनआईटी राउरकेला ने इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। छह दशकों से, यह इंजीनियरिंग कॉलेज देश में तकनीकी पेशेवरों के पूल को समृद्ध कर रहा है।''

मुझे यह जानकर प्रसन्नता है कि, एनआईटी राउरकेला में भारत के कुल 36 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में से 33 के छात्र हैं। मुझे बताया गया है कि, 17 विभिन्न देशों के छात्रों को विभिन्न शैक्षणिक विषयों में भी नामांकित किया गया है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

राष्‍ट्रपति की छात्रों को सलाह :

आगे उन्‍होंने छात्रों को सलाह देते हुए ये भी कहा कि, ''मैं आपको सलाह देता हूं कि केवल भौतिक लाभ के संदर्भ में अपनी सफलता का आंकलन न करें। आपको सफलता और सामाजिक दबावों की पारंपरिक धारणाओं के दबाव में खुद को सीमित नहीं करना है। आपको यह पता लगाने की आवश्यकता है कि आप वास्तव में अपने जीवन में क्या करना चाहते हैं।''

वह करें जो आपको संतुष्टि और सार्थकता प्रदान करे। वह करें जो आपको आपकी आकांक्षाओं के करीब ले जाए। वही करें जो आपके परिवारों को आप पर गर्व करता है। अपने लिए आगे एक फलदायी और उत्पादक मार्ग की योजना बनाएं।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद
  • मैं "कॉरपोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी" के अनुरूप "विश्वविद्यालयों की सामाजिक जिम्मेदारी" की वकालत कर रहा हूं।

  • मुझे यह जानकर खुशी है कि, एनआईटी राउरकेला ने ’उन्नाव भारत अभियान’ के हिस्से के रूप में 5 गांवों को गोद लिया है।

  • राष्ट्रीय शिक्षा नीति का एक उद्देश्य 21 वीं सदी में भारत को वैश्विक ज्ञान महाशक्ति बनाना है।

  • एनआईटी राउरकेला जैसी संस्थाओं को इन राष्ट्रीय उद्देश्यों को प्राप्त करने में एक प्रमुख भूमिका निभानी होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co