राष्ट्रपति ने शिक्षकों को पुरस्कार प्रदान कर बताया-ऐसी होनी चाहिए शिक्षा व्यवस्था
राष्ट्रपति ने शिक्षकों को पुरस्कार प्रदान Twitter Video

राष्ट्रपति ने शिक्षकों को पुरस्कार प्रदान कर बताया-ऐसी होनी चाहिए शिक्षा व्यवस्था

शिक्षक दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति कोविंद ने देश के सर्वश्रेष्ठ शिक्षकों को पुरस्कार प्रदान किए और कहा-शिक्षकों का कर्त्तव्य है कि वे अपने विद्यार्थियों में अध्ययन के प्रति रुचि जागृत करें।

शिक्षक दिवस 2021: आज 5 सितंबर को देशभर में शिक्षक दिवस (Teachers Day 2021) मनाया जा रहा है। इस अवसर पर राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने वर्चुअल माध्यम से देश के सर्वश्रेष्ठ 44 शिक्षकों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया और आज पुस्कार प्राप्त करने वाले सभी शिक्षकों को बधाई दी।

राधाकृष्णन ने एक श्रेष्ठ शिक्षक के रूप में अमिट छाप छोड़ी :

इस मौके पर अपने संबोधन में राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने कहा- डॉक्टर राधाकृष्णन एक दार्शनिक और विद्वान के रूप में विश्व-विख्यात थे। यद्यपि उन्होंने अनेक उच्च पदों को सुशोभित किया, परंतु वे चाहते थे कि उन्हें एक शिक्षक के रूप में ही याद किया जाए। डॉक्टर राधाकृष्णन ने एक श्रेष्ठ शिक्षक के रूप में अपनी अमिट छाप छोड़ी है। आज तक मुझे अपने आदरणीय शिक्षकों की याद आती रहती है। मैं स्वयं को सौभाग्यशाली महसूस करता हूं कि, राष्ट्रपति का कार्यभार ग्रहण करने के बाद, मुझे अपने स्कूल में जाकर, अपने वयोवृद्ध शिक्षकों का सम्मान करने तथा उनका आशीर्वाद लेने का अवसर प्राप्त हुआ था।

शिक्षकों का कर्त्तव्य है :

आगे उन्‍होंने यह भी कहा कि, ''मेरे पूर्ववर्ती राष्ट्रपति डॉक्टर ए.पी.जे. अब्दुल कलाम एक वैज्ञानिक के रूप में अपनी सफलता का श्रेय अपने शिक्षकों को दिया करते थे। वे अपने स्कूल के एक अध्यापक के विषय में बताया करते थे जिनके पढ़ाने की रोचक शैली के कारण बचपन में ही उनमें एयरोनॉटिकल इंजीनियर बनने की ललक पैदा हुई। शिक्षकों का कर्त्तव्य है कि वे अपने विद्यार्थियों में अध्ययन के प्रति रुचि जागृत करें। संवेदनशील शिक्षक अपने व्यवहार, आचरण व शिक्षण से विद्यार्थियों का भविष्य संवार सकते हैं।''

हमारी शिक्षा-व्यवस्था ऐसी होनी चाहिए :

हमारी शिक्षा-व्यवस्था ऐसी होनी चाहिए जिससे विद्यार्थियों में संवैधानिक मूल्यों तथा नागरिकों के मूल कर्तव्यों के प्रति निष्ठा उत्पन्न हो, देश के प्रति प्रेम की भावना मजबूत बने तथा बदलते वैश्विक परिदृश्य में वे अपनी भूमिका के बारे में सचेत रहें।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

शिक्षकों काे लेकर बोले कोविंद :

इस दौरान राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शिक्षकों को लेकर कहा- शिक्षकों को ध्यान रखना चाहिए कि प्रत्येक विद्यार्थी की क्षमता अलग होती है, उनकी प्रतिभा अलग होती है, मनोविज्ञान अलग होता है, सामाजिक पृष्ठभूमि व परिवेश भी अलग-अलग होता है। इसलिए हर एक बच्चे की विशेष जरूरतों, रुचियों और क्षमताओं के अनुसार उसके सर्वांगीण विकास पर बल देना चाहिए।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co