नोएडा: प्रियंका की योगी से मजदूरों की बसों को जाने की अनुमति की अपील
नोएडा: प्रियंका की योगी से मजदूरों की बसों को जाने की अनुमति की अपील|Social Media
भारत

नोएडा: प्रियंका की योगी से मजदूरों की बसों को जाने की अनुमति की अपील

प्रियंका ने कहा, लॉकडाउन की पीड़ा झेलते हुए पैदल चल रहे श्रमिकों को सम्मानपूर्वक घर भेजने की जिम्मेदारी सबकी है, इसलिये UP सरकार नोएडा-गाजियाबाद बॉर्डर पर खड़ी बसों से मजदूरों को ले जाने की अनुमति दे।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। देश मे कोरोना संकटकाल के चलते लॉकडाउन लागू है, जिसका सबसे अधिक परेशानी प्रवासी मजदूरों को हो रही है और इस मामले पर यूपी सराकर और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा दोनों के बीच प्रतिक्रिया का दौर जारी है। अब कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी द्वारा फिर से बुधवार को अपनी प्रतिक्रिया देते हुए यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ से ये अपील की है।

महासचिव प्रियंका गांधी का कहना है कि, लॉकडाउन के कारण पीड़ा झेलते हुए पैदल चल रहे श्रमिकों को सम्मानपूर्वक घर भेजने की जिम्मेदारी सबकी है, इसलिये उत्तर प्रदेश सरकार को नोएडा और गाजियाबाद बॉर्डर पर खड़ी बसों से प्रवासी मजदूरों को ले जाने की तत्काल अनुमति देनी चाहिये। उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने डेढ़ हजार से ज्यादा बसों का इंतज़ाम इन श्रमिकों को उनके घर तक पहुंचने के लिए किया है और सभी बसें गाज़ियाबाद और नोएडा बॉर्डर पर खड़ी हैं। श्रमिकों के हित में उत्तर प्रदेश सरकार को इन बसों के संचालन की अनुमति देनी चाहिए।

राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अनुमति मिलने के बाद 17 मई को 500 बसे और 19 मई को 900 बसे नोएडा गाज़ियाबाद में खड़ी हैं, लेकिन सरकार इन बसों को मजदूरों को लेकर जाने की अनुमति नहीं दे रही है।

प्रियंका गांधी वाड्रा

इस मुद्दे पर राजनीति नहीं :

श्रीमती वाड्रा ने आगे ये भी कहा कि, इस मुद्दे पर राजनीति नहीं होनी चाहिये और इन बसों को चलने दिया जाना चाहिए। उनके कहना था कि, यदि अनुमति मिल गयी होती तो अब के 90 हज़ार से ज्यादा लोग अपने घरों को पहुंच गए होते। अब तक कांग्रेस 67 लाख प्रवादी श्रमिकों को उनके घर तक पहुंचा चुकी है जिनमें से 60 लाख लोग प्रवासी सिर्फ उत्तर प्रदेश के हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co