MCD की स्थायी समिति के सदस्यों के चुनाव को लेकर विरोध
MCD की स्थायी समिति के सदस्यों के चुनाव को लेकर विरोधSocial Media

MCD की स्थायी समिति के सदस्यों के चुनाव को लेकर विरोध, हाथापाई और हंगामे के चलते सदन फिर स्थगित

MCD सदन में स्थायी समीति के सदस्यों का चुनाव नहीं हो पाया। सदन में भाजपा और आम आदमी पार्टी के बीच जमकर हंगामा हुआ, जिसके चलते यह चुनाव स्थगित कर दिया गया।

हाइलाइट्स-

  • MCD सदन में भारी बवाल

  • हाथापाई और हंगामे के चलते सदन फिर की गई स्थगित

  • सदन की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित

  • MCD में स्टैंडिंग कमेटी का चुनाव हुआ मुश्किल

  • बीजेपी पार्षदों ने सिविक सेंटर के बाहर किया प्रदर्शन

राज एक्सप्रेस। दिल्ली एमसीडी चुनाव में आम आदमी पार्टी को बड़ी जीत मिली और बीजेपी को बड़ा झटका लगा है। आप उम्मीदवार शैली ओबरॉय दिल्ली की नई मेयर बनाई गईं। जिसके बाद सदन में जमकर हंगामा देखने को मिला। स्थायी समिति चुनाव से पहले बीजेपी और आप पार्षदों के हंगामे के चलते दिल्ली नगर निगम (MCD) हाउस शुक्रवार सुबह 10 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।

बता दें कि, एमसीडी सदन में स्थायी समीति के सदस्यों का चुनाव गुरुवार को नहीं हो पाया। यह चुनाव शुक्रवार तक के लिए टाल दिया गया है। बता दें, दिल्ली नगर निगम में स्थायी समिति के सदस्यों के चुनाव के दौरान सदन में हंगामा जारी है। कल रात से सदन की कार्यवाही पांचवीं बार स्थगित हुई है। जैसे ही कार्यवाही शुरू होती है पार्षदों का हंगामा शुरू हो जाता है।

कल सदन में हाथापाई और मारपीट भी हुई और AAP और BJP पार्षदों ने एक दूसरे पर बोतलें तक फेंकी। वहीं, आज सबेरे तक सदन में कागजी गोले रुक-रुक कर चलते रहे। महिला पार्षद भी आपस में भिड़ती रही, हंगामे के मद्देनजर एडिशनल डीसीपी शशांक जायसवाल ने सिविक सेंटर का दौरा किया है।

मेयर ने लगाया यह आरोप:

वहीं, दिल्ली की मेयर ने आरोप लगाया है कि, भाजपा पार्षदों ने उन पर भी हमला किया। आप के वरिष्ठ नेता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि, चुनाव हुए बगैर सत्र खत्म नहीं होगा। भले सदन लगातार कई दिनों तक चलता रहे। स्टैंडिंग कमेटी भी आप की ही बनेगी। सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव पहली बैठक में ही कराने का आदेश दिया है। वहीं, रात करीब एक बजे आप के पार्षद सदन से निकल गए, लेकिन भाजपा के पार्षद बैठकर मेयर का इंतजार करते रहे।

इस बात को लेकर हुआ हंगामा:

दरअसल, मेयर, कल शाम को स्थाई समिति के सदस्यों के चुनाव के लिए वोटिंग शुरू हुई थी। डिप्टी मेयर के चुनाव में सदस्यों को वोटिंग के दौरान मोबाइल साथ में लेकर जाने की रोक थी। मगर आम आदमी पार्टी से नवनिर्वाचित मेयर शैली ओबेरॉय ने पार्षदों को मोबाइल फोन अंदर ले जाने की अनुमति दे दी। भाजपा ने इसका विरोध किया, लेकिन तब तक 47 वोट डाले जा चुके थे। 47 वोट डालने के बाद मेयर ने तय किया कि, अब फोन अंदर ले जाना अलाउड नहीं किया जाएगा। बीजेपी अब पूरी वोटिंग नए सिरे से करवाने की मांग कर रही है। बीजेपी का कहना है कि जो वोट अब तक डाले गए, वे नियमानुसार सही नहीं है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co