पंजाब सरकार की गन कल्चर पर सख्ती, हथियारों पर जारी की नई गाइडलाइंस
पंजाब सरकार की गन कल्चर पर सख्ती, हथियारों पर जारी की नई गाइडलाइंसSocial Media

पंजाब सरकार की गन कल्चर पर सख्ती, हथियारों पर जारी की नई गाइडलाइंस

पंजाब की भगवंत मान सरकार ने गन कल्चर को लेकर सख्ती दिखाते हुए हथियारों के लाइसेंस को लेकर नई गाइडलाइंस जारी की है।

पंजाब, भारत। पंजाब की भगवंत मान सरकार एक के बाद एक कई बड़े कदम उठा रही है। अधिकतर राज्यों में आए दिन गोलियां चलने की खबरें आती रहती है, इसी के चलते पंजाब की सरकार गन कल्चर को लेकर सख्त हुई और आज रविवार को उन्‍होंने हथियारों के लाइसेंस को लेकर नई गाइडलाइंस जारी की है।

सख्त आदेश किए जारी :

दरअसल, हथियारों के लाइसेंस को लेकर मुख्यमंत्री भगवंत मान ने बंदूक रखने और उसके प्रदर्शन को लेकर सख्त आदेश जारी किए हैं। इस दौरान आदेश में यह कहा गया है कि, ''बंदूक का ऑनलाइन या ऑफलाइन प्रदर्शन नहीं किया जाएगा। ऐसे गाने जो हथियार या फिर हिंसा को महिमामंडित करते हैं, उन पर सख्ती से रोक लगाई जाएगी। अब तक हथियारों के जितने भी लाइसेंस जारी किए गए हैं उनकी तीन महीने के भीतर ही  समीक्षा की जाएगी। जब तक डीसी व्यक्तिगत रूप से संतुष्ट न हो तब तक कोई नया लाइसेंस जारी नहीं किया जाएगा।''

जब तक डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर व्यक्तिगत रूप से संतुष्ट नहीं हो जाते तब तक कोई नया लाइसेंस जारी नहीं किया जाएगा। इसके अलावा आने वाले दिनों में इसकी रेंडम चेकिंग भी की जाएगी। 

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान

पंजाब सरकार की ओर से यह भी कहा गया-

  • जीवन के लिये खतरा पैदा करने वाली जश्न में गोलीबारी पूरी तरीके से दंडनीय होगी।

  • सार्वजनिक प्रदर्शन या सोशल मीडिया पर प्रदर्शन सख्त वर्जित रहेगा।

  • अलग-अलग इलाकों में रैंडम चेकिंग की जाएगी। गलत पाए जाने पर एफआईआर दर्ज की जाएगी।

  • किसी भी समुदाय के खिलाफ अभद्र भाषा बोलने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही होगी।

  • ऐसे जश्न में फायरिंग पूरी तरीके से प्रतिबंधित रहेगा, जिसमें मानव जीवन या दूसरों की व्यक्तिगत सुरक्षा खतरे में पड़ जाए। 

पंजाबी गानों में भी बैन :

इसके अलावा पंजाब सरकार ने पंजाबी गानों में हथियारों का महिमामंडन करना भी बंद कर दिया गया है। नशा और हथियार अब से गाने का हिस्सा नहीं होंगे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co