राहुल गांधी
राहुल गांधीSocial Media

आज हर कोई निराश है, कांग्रेस तपस्या और भाजपा पूजा का संगठन है: राहुल गांधी

हरियाणा के भारत जोड़ो यात्रा के दौरान करनाल में प्रेस कान्फ्रेंस में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपनी प्रतिक्रिया दी और भारतीय जनता पार्टी और आरएसएस पर जोरदार तंज कसा।

हरियाणा, भारत। कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा आज रविवार को हरियाणा के कुरुक्षेत्र में चल रही है, इस दौरान आज सुबह फिर धुंध व हलके अंधेरे में राहुल गांधी ने अपनी पैदल यात्रा की शुरूआत की, उनकी यह यात्रा गांव जिरबड़ी से शुरू हुई, जो शाम को पुराना बस स्टैंड पर यात्रा का समापन हेाग।

कांग्रेस तपस्या और भाजपा पूजा का संगठन है :

तो वहीं, हरियाणा में प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए हरियाणा के लोगों का धन्यवाद दिया और कहा कि, ''कन्याकुमारी से यात्रा शुरू हुई थी। इसका रिस्पांस लगातार बढ़ता गया है। हरियाणा के किसानों ने हरियाणा की सच्चाई उन्हें बताई।'' इसके साथ ही उन्‍होंने भारतीय जनता पार्टी और आरएसएस पर जोरदार तंज भी कसा।

यह दोनों देश को फोर्स पूजा की ओर ले जा रही है, जबकि भारत देश तपस्या का देश है और यहां हर देशवासी अपने-अपने काम में तरस्या कर रहा है, लेकिन भाजपा सरकार इस तपस्या की इज्जत नहीं कर रही है और यही कारण है कि, आज हर कोई निराश है। कांग्रेस तपस्या का संगठन है। भाजपा पूजा का संगठन है। पूजा 2 तरीके की होती है। नॉर्मली पूजा भगवान के पास जाकर होती है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी

इतना ही नहीं आगे उन्‍होंने यह भी कहा कि, ''भाजपा सरकार ने ही देश में नफरत का माहौल पैदा किया है और आज न किसान का सम्मान है और न युवा का सम्मान किया जा रहा। न छोटे दुकानदार का सम्मान है। देश की पूरी अर्थव्यवस्था 4 से 5 लोगों के हाथ में दी हुई है और यही वजह है कि आज देश में बेरोजगारी चरम पर है। युवाओं में निराशा है, किसान परेशान हैं और उद्योग समाप्त हो रहे हैं।''

  • उनकी भारत जोड़ों यात्रा देश के ऐसे माहौल को बदलने के लिए निकाली जा रही है और वह इसमें कामयाब हो रहे हैं। देश के लोग यात्रा से जुड़ रहे हैं और उन्हें सच्चाई बता रहे हैं, वह भी लोगों को सच्चाई से रूबरू करवा रहे हैं और यह यात्रा की सफलता है। जहां भी जा रही है और ज्यादा रिस्पांस मिल रहा है।

  • कांग्रेस का मकसद तपस्या के साथ देश को आगे बढ़ाना है और यही कांग्रेस का सिंबल है। भगवान शिव, गुरु गोबिंद सिंह, भगवान बुद्ध भी हाथ खड़ा कर अभय मुद्रा में दिखाई देते हैं और उसी मुद्रा में कांग्रेस है, जिसका मकसद देश को जोड़कर आगे बढ़ाने का है।

  • भारत जोड़ो यात्रा राजनीतिक मकसद से नहीं, लेकिन देश को जोड़ने के मकसद से है। दोस्तों नफरत के माहौल से बाहर निकल देश में आपसी भाईचारा बढ़ाने से है। देशवासियों को सुरक्षित माहौल देने से हैं उन्होंने कहा बीजेपी आरएसएस फोर्स पूजा की और देश को ले जा रहे हैं, उनका कहना है कि, जो उनकी पूजा करेगा उसे ही सम्मान मिलेगा, जबकि कांग्रेस पार्टी ने यही लड़ाई शुरू की है।

  • शिव जी, गुरुनानक देव जी और भगवान बुद्ध का हाथ 'अभय मुद्रा' में है। 'अभय मुद्रा' का अर्थ है- डरो मत। 'अभय मुद्रा' तपस्या का प्रतीक है। यही कांग्रेस के निशान 'हाथ' के पीछे का मतलब है।

  • हिन्दुस्तान का हर एक किसान और मजदूर मुझसे ज्यादा चला है, लेकिन आप ये नहीं कहते कि देखो किसान और मजदूर कितने किलोमीटर चले हैं, क्योंकि आप तपस्या की इज़्ज़त नहीं करते। मैं करता हूं और मुझे देश में यही बदलाव लाना है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co