हाथरस पीड़ित परिवार से मिलने की राहुल-प्रियंका को कुछ शर्तों पर मिली अनुमति
हाथरस पीड़ित परिवार से मिलने की राहुल-प्रियंका को कुछ शर्तों पर मिली अनुमति|Social Media
भारत

हाथरस पीड़ित परिवार से मिलने की राहुल-प्रियंका को कुछ शर्तों पर मिली अनुमति

हाथरस कथित सामूहिक बलात्कार घटना की पीड़िता के परिवार से मिलने के लिए अड़े कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को आखिरकार प्रशासन ने अनुमति दे दी। तो वहीं, कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

हाथरस कांड: उत्तर प्रदेश के हाथरस में दलित बेटी के साथ हुए गैंगरेप और बर्बरता की घटना लेेकर देश की सियासत में जबरदस्‍त उफान आया हुआ है। वहीं, कांग्रेस नेता राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी के साथ हुए कथित बर्ताव के बावजूद भी दोनों भाई-बहन पीछे नहीं हटे और आज फिर दूसरी बार दिल्ली स्थित कांग्रेस कार्यालय से हाथरस के लिए रवाना हुए।

शर्तों के साथ हाथरस जाने की अनुमति :

हाथरस पीड़ित परिवार से मिलने के लिए राहुल गांधी और प्रियंका गांधी सांसदों के साथ हाथरस के लिए रवाना हुए। हालांकि, इस दौरान आज जब राहुल गांधी और प्रियंका गांधी डीएनडी फ्लाइवे पर पहुंचे, तो यहां उनके काफिले को रोकने के लिए बैरिकेडिंग लगाई गई है, लेकिन फिर बाद में UP प्रशासन ने राहुल और प्रियंका गांधी के साथ कुल 5 लोगों को कुछ शर्तों के साथ हाथरस जाने की अनुमति दी है।

दरअसल, UP प्रशासन ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को हाथरस जाने और पीड़िता के परिवार से मिलने की अनुमति के लिए जो शर्त दी हैं, इनमें मास्क लगाना और कोरोना से जुड़े अन्य प्रोटोकॉल का पालन करना शामिल है। वहीं, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की गाड़ी डीएनडी से आगे बढ़कर यूपी में प्रवेश कर चुकी है।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज :

इसके अलावा बाकी गाड़ियों को रोक लिया गया है, जब कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने डीएनडी क्रॉस पर यूपी में प्रवेश करने के लिए बैरिकेड तोड़कर आगे बढ़ने की कोशिश की, तो पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज कर भीड़ को तितर-बितर किया।

कांग्रेस द्वारा जारी एक वीडियो के मुताबिक, राहुल और प्रियंका एक वाहन में सवार हैं तथा बहन प्रियंका गांधी खुद कार चला रही हैं। तो वहीं दूसरी ओर कांग्रेस के कई सांसद बस में सवार होकर हाथरस के लिए निकले हैं।

बता दें, हाथरस जाने से पहले आज सुबह ही राहुल गांधी ने ट्वीट के माध्‍यम से ये दावा किया था कि, "दुनिया की कोई भी ताक़त मुझे हाथरस के इस दुखी परिवार से मिलकर उनका दर्द बांटने से नहीं रोक सकती।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co