जम्मू: भारी बारिश ने तोड़ा 32 साल का रिकॉर्ड, गांदरबल में बादल फटने से तबाही
जम्मू: भारी बारिश ने तोड़ा 32 साल का रिकॉर्ड, गांदरबल में बादल फटने से तबाही
Social Media

जम्मू: भारी बारिश ने तोड़ा 32 साल का रिकॉर्ड, गांदरबल में बादल फटने से तबाही

जम्मू में पिछले 24 घंटे से भारी बारिश थमने का नाम नहीं ले रही है। इतना ही नहीं इस बारिश क चलते यहां गांदरबल में बादल फट गए। इस बारिश ने 32 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है।

जम्मू, भारत। भारत के कई राज्यों में भारी बारिश के चलते बहुत बुरा हाल है। इन राज्यों में लगातार भारी बारिश के कारण आसपास के कई इलाके और गावों पूरी तरह जल मग्न हो गए है। इन राज्यों में चारों तरह बारिश के चलते आई बाढ़ से पानी-पानी ही नजर आरहा है। ठीक यही स्थिति इस समय जम्मू की भी दिखाई दे रही है। क्योंकि यहां पिछले 24 घंटे से भारी बारिश थमने का नाम नहीं ले रही है। इतना ही नहीं इस बारिश क चलते यहां गांदरबल में बादल फट गए। इस बारिश ने 32 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है।

जम्मू में बारिश ने तोड़ा 32 साल का रिकॉर्ड :

भारत के मौसम विभाग के अनुसार, जम्मू में मानसून के आने से लेकर अब तक भारी बारिश के कारण कई राज्य के कई इलाकों में बाढ़ आ चुकी है। जम्मू में भारी बारिश के चलते बीते 32 साल का रिकॉर्ड टूट गया है। कोरोना महामारी के बीच यहां 32 साल बाद बारिश ने ऐसा रौद्र रूप ले लिया है। हर कोई यहां बारिश से परेशान है। जम्मू में इससे पहले साल 1989 में ऐसी बारिश देखने को मिली थी। तब से अब तक यहाँ ऐसी बारिश नहीं हुई, लेकिन मात्र जुलाई के महीने में ही यहां अब तक की सबसे अधिक यानी 150.6 मिमी बारिश हो चुकी है और यदि ये बारिश नहीं थमी तो यह बारिश जुलाई 1986 में हुई 172.6 मिमी बारिश का रिकॉर्ड तोड़ देगी।

बारिश से हुआ नुकसान :

जम्मू और कश्मीर में लगातार हो रही बारिश के चलते कश्मीर घाटी के गांदरबल में बादल फट गया जिससे बाढ़ का पानी कई घरों में घुस गया है। चार से पांज जगहों पर कई झुग्गियां वह गई। हालांकि, तुरंत जानकारी मिलते ही यहां राहत एवं बचाव का कार्य शुरू कर दिया गया। यहां रहने वाले सैकड़ों लोग बेघर हो गए है। ऐसे में न लोगों के पास खाने को कुछ है न ही पीने के लिए पानी। उधर, रामबन के मगरकोट में पस्सियां गिरने के चलते जम्मू-श्रीनगर हाईवे बंद करना पड़ा है। जिससे वाहनों की लम्भी लाइन लग गई है। यहां भी मलबा हटाने का काम जारी है, लेकिन भारी बारिश के कारण कई मुश्किलें खड़ी हो रही है।

अधिकारियों ने बताया :

बताते चलें, यहां सभी आसपास के इलाकों में लोगों की मदद के लिए भारतीय सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस जमकर अपना योगदान दे रही हैं। भारतीय सेना ने कई इलाकों से लोगों को रेस्क्यू कर उन तक राशन और दवाएं पहुंचाई हैं। साथ ही कई इलाकों में ऑपरेशन जारी है। सेना के अधिकारियों ने बताया कि, 'स्थानीय लोगों की तरफ से सुबह 5 बजे से ही फोन आने शुरू हो गए थे जिसके तुरंत बाद सेना की कई टीमें लोगों की मदद के लिए भेजी गई और सड़कें भी क्लियर करने के लिए लगाई गईं। यहां के Watlar गांव में करीब 100 घरों को नुकसान पहुंचा है। कई घर पूरी तरह से टूट गए हैं।'

सुबह 7:30 बजे तक बारिश की मात्रा :

  • जम्मू = 150.6 मिमी

  • श्रीनगर = 8.2 मिमी

  • काजीगुंड = 5.2 मिमी

  • पहलगाम = 23.0 मिमी

  • कुपवाड़ा = 9.7 मिमी

  • कोकरनाग = 7.4 मिमी

  • गुलमर्ग = 13.6 मिमी

  • पंपोर = 28.0 मिमी

  • श्रीनगर हवाई अड्डा = 4.2 मिमी

  • अवंतीपोरा = 7.8 मिमी

  • अनंतनाग = 5.0 मिमी

  • खुदवानी = 8.0 मिमी (सुबह 6:30 बजे तक)

  • बांदीपोरा = 4.0 मिमी

  • बडगाम = 7.0 मिमी (सुबह 7:30 बजे तक)

  • शोपिया = 12.0 मिमी (सुबह 6:30 बजे तक)

  • कुलगाम = 9.0 मिमी (सुबह 6:30 बजे तक)

  • आरएस पुरा = 55.0 मिमी

  • बनिहाल = 6.4 मिमी

  • बटोट = 25.4 मिमी

  • कटड़ा = 76.6 मिमी

  • भद्रवाह = 10.4 मिमी

  • कठुआ = 24.8 मिमी

  • जम्मू हवाई अड्डा = 123.0मिमी

  • उधमपुर = 27.4 मिमी

  • रामबन = 15.0 मिमी (सुबह 6:30 बजे तक)

  • पुंछ = 87.0 मिमी (सुबह 6:30 बजे तक)

  • किश्तवाड़ = 2.0 मिमी

  • सांबा = 119.0 मिमी

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co