CM गहलोत ने पायलट को कहा गद्दार
CM गहलोत ने पायलट को कहा गद्दारSocial Media

राजस्थान कांग्रेस में फिर भारी खींचतान, CM गहलोत ने पायलट को कहा गद्दार

राजस्‍थान के CM अशोक गहलोत ने सचित पायलट पर बड़ा हमला बोलते हुए कहा- पायलट कैसे सीएम बन सकते हैं। जिस आदमी के पास 10 विधायक नहीं हैं, जिसने ​​बगावत की हो, जिसे गद्दार नाम दिया गया है।

राजस्थान, भारत। कांग्रेस शासित राज्‍य राजस्‍थान में एक बार फिर भारी खींचतान या कहे पॉलिटिक्स ड्रामा देखने को मिल रहा है। आज गुरूवार को राज्‍य मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा अपशब्‍दों का प्रयोग कर सचिन पायलट पर बड़ा हमला बोला गया है, जिसके बाद से ट्वीटर पर सचिन पायलट और अशोक गहलोत काफी ट्रैंड हो रहा है।

CM गहलोत ने पायलट को कहा गद्दार :

दरअसल, आज मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक टीवी न्यूज चैनल पर इंटरव्यू के दौरान अब तक का सबसे बड़ा हमला बोलते हुए यह कहा है कि, ''जो आदमी गद्दारी कर चुका है, उसे हमारे एमएलए और मैंने खुद भुगता है, 34 दिन तक होटलों में रहे हैं, उनको वे कैसे स्वीकार करेंगे? सचिन पायलट को कैसे सीएम बना सकते हैं। जिस आदमी के पास 10 विधायक नहीं हैं, जिसने ​​बगावत की हो, जिसे गद्दार नाम दिया गया है, उसे लोग कैसे स्वीकार कर सकते हैं। जिसके कारण हम 34 दिन होटलों में बैठे रहे, ये सरकार गिरा रहे थे।''

देश में ऐसा पहली बार हुआ होगा जब एक पार्टी अध्यक्ष ने अपनी ही सरकार को (2020 में) गिराने का प्रयास किया। जिसके लिए उन्हें भारतीय जनता पार्टी ने फंड दिया और मानेसर के होटल में BJP के नेता धर्मेंद्र प्रधान विधायकों से मिलने आते थे। उन्होंने पायलट और उनके साथ के MLA पर बीजेपी से 10 करोड़ रुपए लेने की बात कही, इस बात के सबूत उनके पास हैं। 2020 में सचिन पायलट और उनके समर्थित विधायकों के साथ मानेसर के एक होटल में जाकर कैद हो जाने पर राजस्थान की गहलोत सरकार संकट में आ गई थी। इसके बाद जो हुआ जगजाहिर है।

राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत

ट्वीटर पर ट्रैंड हो रहा सचिन-गहलोत :

तो वहीं, इंटरव्यू में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा सचिन पायलट को गद्दार बताने के बाद सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म पर सचिन पायलट और अशोक गहलोत यह दो हैशटैग काफी ट्रेंड हो रहे है, लोग इस हैशटैग के जरिए अपनी-अपनी बात रख रहे हैं। ट्विटर पर चल रहे हैं दोनों ही नेताओं के समर्थक अपने-अपने हैशटैग के साथ बात रख रहे हैं।

इसके अलावा इंटरव्यू में सीएम रहने का भी सवाल पूछा गया तो इस पर CM गहलोत ने कहा, आज तो मैं ही हूं यहां पर। साथ ही हाईकमान की तरफ से इशारे के सवाल पर यह बात भी कहीं कि, ''हाईकमान के इशारे की छोड़ो, मुझे तो कोई इंडिकेशन नहीं है। मैं हाईकमान के साथ हूं। पायलट को कोई स्वीकार ही नहीं करेगा। हाईकमान राजस्थान के साथ न्याय करेगा। सितंबर की बातें हैं। अजय माकन और हाईकमान को अपनी फीलिंग बता चुका हूं। राजस्थान में सरकार आना जरूरी है। मैं तीन बार सीएम रह चुका। मेरे लिए सीएम रहना जरूरी नहीं है। आप सर्वे करवा लीजिए कि मेरे मुख्यमंत्री रहने से सरकार आ सकती है तो मुझे रखिए। अगर दूसरे चेहरे से सरकार आ सकती है तो उसे बनाइए।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co