गहलोत सरकार कर रही है वोट बैंक एवं तुष्टिकरण की राजनीति:अमित शाह
गहलोत सरकार कर रही है वोट बैंक एवं तुष्टिकरण की राजनीति:अमित शाहSocial Media

गहलोत सरकार कर रही है वोट बैंक एवं तुष्टिकरण की राजनीति : अमित शाह

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने राजस्थान की गहलोत सरकार पर वोट बैंक एवं तुष्टिकरण की राजनीति करने का आरोप लगाया है।

जोधपुर। केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने राजस्थान की गहलोत सरकार पर वोट बैंक एवं तुष्टिकरण की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा है कि उसके शासन में प्रदेश में बेरोजगारी बढ़ी, बिजली महंगी हुई एवं विकास में राज्य को पीछे छोड़ दिया और वह कानून व्यवस्था बनाये रखने में भी पूरी तरह असफल रही।

श्री शाह आज यहां भाजपा के जोधपुर संभाग के बूथ सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को जनता से किए वायदे याद दिलाते हुए कहा कि भाजपा हिसाब मांग रही है कि कांग्रेस ने दस दिनों में किसानों का कर्जा माफ करने का वादा किया था,लेकिन आज तक पूरा नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि बेरोजगारों को बेरोजगारी भत्ता देने का वायदा भी पूरा नहीं निभाया।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में श्रीमती वसुंधरा राजे की सरकार के समय बेरोजगारी दर 5.4 प्रतिशत थी जो गहलोत सरकार ने इसे 32 प्रतिशत करने का काम किया हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने पेट्रोल एवं डीजल के दाम घटाने पर देश में भाजपा की सरकारों ने अपने राज्यों में पेट्रोल पर वेट को कम करने का काम किया,लेकिन राजस्थान की गहलोत सरकार ने ऐसा नहीं किया और देश में सबसे महंगा पेट्रोल एवं डीजल राजस्थान में मिलता है। सबसे महंगी बिजली राजस्थान में मिलती हैं, कौन जिम्मेदार है।

श्री शाह ने कहा कि ऐसी सरकार को उखाड़ फैंकना चाहिए। उन्होंने कहा कि हम टैक्स कम करेंगे और बिजली के दाम भी कम करेंगे। उन्होंने कहा कि गहलोत सरकार पर प्रदेश को विकास के मामले में पीछे छोड़ देने का आरोप लगाते हुए कहा कि वह सड़क, बिजली एवं युवाओं को रोजगार नहीं दे सकती हैं, वह वोट बैंक एवं तुष्टिकरण की नीति कर सकती है।

उन्होंने कांग्रेस पर दंगे कराने का आरोप लगाते हुए कहा कि सुनियोजित दंगे कांग्रेसियों ने कराये। उन्होंने कहा कि उदयपुर में कन्हैयालाल की हत्या हुई, करौली में हिंसा हुई, अलवर में तीन सौ साल पुराना मंदिर को तोड़ दिया गया। भरतपुर में महंत विजय दास को खनन माफिया के खिलाफ आत्मदाह करना पड़ा। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की घटनाएं पहले कभी नहीं सुनी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में गहलोत सरकार का प्रशासन पर कोई नियंत्रण नहीं रहा और लॉ एंड ऑर्डर का मतलब, पैसा लो और ऑर्डर करो रह गया, इस प्रकार काम कर रही है।

श्री शाह ने कहा कि श्री गहलोत से प्रदेश नहीं संभलता है, तो पहले ही पहले ही छोड़ दीजिए, जनता भाजपा को लाने को तैयार है। उन्होंने राज्य की पूर्ववर्ती वसुंधरा सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि भामाशाह योजना, टोल टैक्स से मुक्ति, जलस्वावलंबन आदि योजनाओं के साथ राज्य में विकास को बढ़ाने का काम किया। उन्होंने कहा कि देश में छत्तीसगढ़ एवं राजस्थान में दो राज्यों में कांग्रेस की सरकारें हैं और इन दोनों जगह पर भाजपा की सरकारें बनाने का आह्वान भी किया। उन्होंने कहा कि सरकारें कार्यकर्ताओं के जोश एवं जुनून से बनती है और आज तेज गर्मी में 25 हजार कार्यकर्ता सुबह ग्यारह बजे से अपराह्न तीन बजे तक बैठे हैं इसका मतलब यहां भाजपा की सरकार बनने जा रही है। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता सशक्त बूथ एवं मंडल बनाता हैं और वही चुनाव जीतता है।

उन्होंने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री भैरों सिंह शेखावत सहित अन्य नेताओं का जिक्र करते हुए कहा कि इन नेताओं ने राजस्थान को बदलने का काम किया। उन्होंने मारवाड़ की भूमि को वीर दुर्गादास की भूमि बताते हुए वीर दुर्गादास को प्रणाम किया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co