पीएम मोदी का गुर्जर समाज को उपहार
पीएम मोदी का गुर्जर समाज को उपहारAkash Dewani - RE

PM मोदी का गुर्जर समाज को उपहार- महाकाल की तरह देवनारायण कॉरिडोर बनाया जाएगा, 28 जनवरी को कर सकते हैं घोषणा

भीलवाड़ा, राजस्थान: इस महीने की 28 तारीख को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भगवान देवनारायण के 1111वें प्रकटोत्सव के उपलक्ष में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करने पहुंचेंगे जहां वे बड़ी घोषणा कर सकते हैं।

भीलवाड़ा, राजस्थान। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देशभर में रहने वाले गुर्जर समाज को उपहार देने जा रहे हैं। इस महीने की 28 तारीख को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भगवान देवनारायण के 1111वें प्रकटोत्सव के उपलक्ष में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करने पहुंचेंगे, जहां वे बहुत बड़ी घोषणा कर सकते हैं। केंद्रीय संस्कृति मंत्री मंत्रालय द्वारा भीलवाड़ा के देवनारायण मंदिर यानी सवाई भोज मंदिर के पास महाकाल कॉरिडोर और काशी विश्वनाथ कॉरिडोर की तरह देवनारायण कॉरिडोर बनाए जाने की घोषण की जा सकती है। भगवान देवनारायण गुर्जर समाज के लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण भगवान हैं।

कार्यक्रम की जिम्मेदारी संस्कृति मंत्री अर्जुनराम मेघवाल को सौंपी गई है

केंद्रीय संस्कृति मंत्री अर्जुनराम मेघवाल बीकानेर से सांसद है,इसी वजह से भगवान देवनारायण के प्रकटोस्तव और पीएम मोदी के आने के कार्यक्रम की जिम्मेदारी भी उन्हें ही दी गई है। मंत्री अर्जुनराम भीलवाड़ा के आसींद में 19 जनवरी को मीटिंग कर तैयारियों का जायजा लेंगे। अर्जुनराम मेघवाल के साथ संगठन महामंत्री चंद्रशेखर में तैयारियों का जायजा लेंगे।

कैसा होगा कॉरिडोर

  1. मंदिर के बगल वाली झील के पास बनेगा वॉक वे।

  2. भगवान देवनारायण को समर्पित एक म्यूजियम बनाया जाएगा, जिसमे भगवान देवनारायण के जीवन,क्षेत्र में मौजूद उनके ऐतिहासिक प्रमाणों और क्षेत्र के इतिहास को दर्शाया जाएगा।

  3. लाइट एंड ऑडियो शो की जगह बनाई जाएगी, जिसमे मंदिर से जुड़े विषयों पर प्रोग्राम सुनाए जायेंगे।

  4. देवनारायण मंदिर के पास साल में 2 मेले होते है, जिसके लिए अलग से जगह को बनाया जाएगा।

  5. देवनारायण भगवान की कथा पाठ और यज्ञ के लिए कथा ऑडिटोरियम भी बनाया जाएगा।

  6. मलुसरी डूंगरी पहाड़ी पर पर्यटकों के आने-जाने के लिए पर्याप्त जगह का भी निर्माण किया जाएगा।

भाजपा की गुर्जर समाज को जोड़ने की कोशिश

आने वाले विधानसभा और 2024 में होने लोक सभा चुनावों के लिए यह घोषणा काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही है। राजस्थान में गुर्जर समाज का प्रभाव लोक सभा की 12 सीटों और विधानसभा की 45 सीटों पर होता हैं। यही सब सीटें चुनावों के जीत हार का अंतर तय करती है। भाजपा का कदम उनके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है l भाजपा के राजस्थान के 25 लोकसभा सीटों में से 24 सांसद हैं, और उसमे सिर्फ एक ही गुर्जर है टोंक से लखबीर सिंह जौनपुरिया और विधानसभा की 200 सीटों में से एक भी ऐसा गुर्जर विधायक नही है जो भाजपा की टिकट से जीता हो।

कौन देवनारायण भगवान?

भगवान देवनारायण राजस्थान के एक लोकदेवता हैं जो एक पराक्रमी यौद्धा के रूप में जाने जाते है।गुर्जर समुदाय के लोग इन्हें अपना आराध्य मानते हैं। भगवान देवनारायण बगडावत वंश के नाग वंशीय गुर्जर थे जिनका मूल स्थान वर्तमान में अजमेर के निकट नाग पहाड़ था। जिन्होंने अत्याचारी शासकों के विरुद्ध कई संघर्ष एवं युद्ध किये। वे शासक भी रहे उन्होंने अनेक सिद्धिया प्राप्त की। चमत्कारों के आधार पर धीरे धीरे वे गुर्जरों के देव स्वरूप बनते गये एवं अपने इष्टदेव के रूप में पूजे जाने लगे।देवनारायण को विष्णु के अवतार के रूप में गुर्जर समाज द्वारा राजस्थान व दक्षिण पश्चिमी मध्यप्रदेश में अपने लोकदेवता के रूप में पूजा होती है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co