राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे
राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे Social Media

चुनाव से पहले वसुंधरा का शक्ति प्रदर्शन, क्या बीजेपी के सीएम चेहरे के लिए मुखर होने का है प्रयास, जानें वजह

जन्मदिन से पहले चूरू पहुंचीं राजे ने प्रसिद्ध सालासर बालाजी मंदिर में माथा टेका। विशाल जनसभा में 80 हजार से ज्यादा लोगों को किया संबोधित

राजस्थान। राजस्थान की पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने जन्मदिन से पहले ही 4 मार्च को शक्ति प्रदर्शन किया। राजस्थान में इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले राजे के बड़े शक्ति प्रदर्शन को खुद को सीएम के चेहरे के लिए मुखर करने के प्रयास के रूप में देखा जा रहा है। साथ ही इसे विधानसभा चुनाव के लिए जनता को साधने का जरिया बताया जा रहा है। राजे ने 8 मार्च को अपने आगामी जन्मदिन से पहले ही 4 मार्च को विशाल जनसभा का आयोजन किया, ताकि सभी नेता इसमें शामिल हो सके। 8 मार्च को होली के कारण इतनी भारी मात्रा में नेताओं और लोगों के जुडऩे की संभावना नहीं थी। इसे विधानसभा चुनाव के लिए जनता को साधने का जरिया बताया जा रहा है।

10 मौजूदा बीजेपी सांसद, 40 वर्तमान बीजेपी विधायक रहे मौजूद

राजस्थान के चूरू जिले में राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की जनसभा में 80 हजार से ज्यादा लोग शामिल हुए थे। इसे साल 2023 के अंत में होने वाले महत्वपूर्ण विधानसभा चुनावों से पहले शक्ति प्रदर्शन के रूप में देखा जा रहा है। चूरू पहुंचीं राजे ने शनिवार को प्रसिद्ध सालासर बालाजी मंदिर में भी माथा टेका। इसके बाद उन्होंने 80 हजार लोगों की रैली को संबोधित किया। राजे खेमे की ओर दावा किया जा रहा कि वसुंधरा की जनसभा के दौरान कम से कम 10 मौजूदा बीजेपी सांसद, 40 वर्तमान बीजेपी विधायक और 100 से अधिक पूर्व विधायक समेत राज्य बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष अशोक परनामी के अलावा सांसद पीपी चौधरी, देवजी पटेल और वसुंधरा राजे के बेटे दुष्यंत राजे मौजूद थे।

राजे की लोकप्रियता के मामले में कोई भी उनके करीब नहीं आता

राजे समर्थित एक नेता ने बताया कि राजे के जन्मदिन समारोह को केंद्रित करने की योजना हफ्तों पहले ही तय कर ली थी। समर्थकों का कहना है कि वसुंधरा राजे की जनसभा में हजारों की उपस्थिति एक स्पष्ट संकेत है कि राजस्थान में लोग वसुंधरा राजे को एकमात्र व्यक्ति मानते हैं जो मुख्यमंत्री पद के लिए बीजेपी का चेहरा हो सकती हैं। भाजपा को उनके अलावा किसी और को पार्टी प्रमुख के रूप में पेश नहीं करना चाहिए। लोकप्रियता के मामले में कोई भी उनके करीब नहीं आता है। उन्होंने कहा कि वसुंधरा राजे से मिलने, देखने और उन्हें बधाई देने हजारों लोगों की भीड़ पहुंची थी। वसुंधरा की जय-जयकार के साथ-साथ केसरिया में हरा-हरा, राजस्थान में वसुंधरा और अबकी बार वसुंधरा सरकार जैसे नारों ने जनसभा में अपनी जगह बनाई।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co