वेबिनार में राजनाथ सिंह ने बजट 2021-22 के बारे में बताई यह अहम बातें
वेबिनार में राजनाथ सिंह ने बजट 2021-22 के बारे में बताई यह अहम बातेंPriyanka Sahu -RE

वेबिनार में राजनाथ सिंह ने बजट 2021-22 के बारे में बताई यह अहम बातें

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज वर्ष 2021-22 के बजट की घोषणाओं और भारत के रक्षा क्षेत्र पर आयोजित वेबिनार को संबोधित कर बजट के बारे में ये अहम बातें कहीं...

दिल्‍ली, भारत। वर्ष 2021-22 के बजट की घोषणाओं और भारत के रक्षा क्षेत्र पर आज सोमवार को एक वेबिनार आयोजित हुआ, जिसे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने संबोधित किया।

बजट के बारे में बोले रक्षा मंत्री :

इस दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने संबोधन में कहा- वर्ष 2021-2022 के लिए केंद्रीय बजट हमारी सरकार की एक अनूठी पहल है। यह वादा, क्षमता और प्रगति का एक स्वस्थ मिश्रण लाता है। इसका दूरंदेशी एजेंडा देश की रक्षा और सुरक्षा के लिए सहायता प्रदान करता है। यह पहला डिजिटल केंद्रीय बजट COVID-19 की पृष्ठभूमि में आया था।

हमारा उद्देश्य न केवल अर्थव्यवस्था को उसके सकारात्मक प्रक्षेप पथ पर लाना था, बल्कि इस चुनौती के परिणामस्वरूप अवसरों की तलाश करना था। इसके परिणामस्वरूप सबसे महत्वपूर्ण विचारों में से एक आत्‍मनिर्भर भारत का था।
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

रक्षा बजट में पिछले वर्ष की तुलना में अभूतपूर्व वृद्धि :

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बताया- रक्षा बजट में पिछले वर्ष की तुलना में पूंजीगत परिव्यय में 18.75% की अभूतपूर्व वृद्धि हुई है और पिछले वर्ष की तुलना में 30% है, जो पिछले 15 वर्षों में सबसे अधिक है। मेरे मंत्रालय ने 2021-22 में रक्षा क्षेत्र में होने वाले खर्च के 63% को घरेलू खरीद पर खर्च करने की योजना बनाई है जो क़रीब 70,221 करोड़ रुपये है। रक्षा क्षेत्र में भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश में 200% से अधिक की वृद्धि हुई है। रक्षा क्षेत्र में पिछले 6 वर्षों में 2,871 करोड़ रुपये एफडीआई का निवेश किया गया है।

राजनाथ सिंह ने कहा कि, ''रक्षा में खरीद निर्णय लेने वाले चार कारकों के बीच घनिष्ठ संबंध है। इन खतरों का हम सामना, हमारी आकांक्षाएं, क्षमता विकास पहल और प्रौद्योगिकी में प्रगति कर रहे हैं। इसलिए मैं अपने उद्योग भागीदारों और उपयोगकर्ताओं से आग्रह करता रहूंगा कि वे आगे रहें और यह सुनिश्चित करने के लिए कि इस पारस्परिक रूप से लाभकारी रिश्ते को आगे बढ़ाने के लिए प्रौद्योगिकी में उन्नति एक अंतर्निहित कारक बन जाए।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co