बेंगलुरु में रक्षा मंत्री ने किया LCA की दूसरी प्रोडक्शन लाइन का उद्घाटन
बेंगलुरु में रक्षा मंत्री ने किया LCA की दूसरी प्रोडक्शन लाइन का उद्घाटनTwiitter

बेंगलुरु में रक्षा मंत्री ने किया LCA की दूसरी प्रोडक्शन लाइन का उद्घाटन

कर्नाटक के बेंगलुरु दौरे पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स की LCA की दूसरी प्रोडक्शन लाइन का उद्घाटन किया और अपने संबोधन में ये बातें कही...

कर्नाटक, भारत। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज चार दिवसीय यात्रा पर बेंगलुरु पहुंच गया है। यहां उन्‍होंने बेंगलुरु में हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स की लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट (LCA) की दूसरी प्रोडक्शन लाइन का उद्घाटन किया।

आत्मनिर्भर भारत अभियान की मजबूती में एक बड़ा कदम :

इस दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने एचएएल की दूसरी एलसीए प्रोडक्शन लाइन के उद्घाटन समारोह में सभा को संबोधित करते हुए कहा- HAL की यह नवनिर्मित निर्माण इकाई (manufacturing unit) HAL, Indian Air-force, और ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ की मजबूती में एक बड़ा कदम साबित होने वाला है और संतुष्टि इस बात की कि, इस उद्घाटन के साथ ही आप लोगों से किया गया मेरा एक वादा भी पूरा हो रहा है।

यह एक ऐतिहासिक डील :

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, ''कोविड के बावजूद, HAL को लगभग 50 हजार करोड़ का एक बड़ा ऑर्डर आर्म्ड फोर्सेज़ की तरफ से मिला है। यह न केवल अपने आप में, बल्कि इंडिजेनस डिफेन्स प्रोक्योरमेंट के इतिहास में सबसे बड़ी प्रोक्योरमेंट है। यह एक ऐतिहासिक डील है, जो इंडियन एयरोस्पेस सेक्टर को नई ऊंचाइयों पर ले जाएगी।''

तेजस विमान पर राजनाथ सिंह ने बताया-

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बताया कि, ''तेजस विमान के लिए सरकार द्वारा इतनी बड़ी खरीद को मंजूरी देना, कई मायनों में खास है। पहली, हमारे देश की सुरक्षा में बढ़ोत्तरी। इस खरीद से हमारी वायु सेना की Capability में अभूतपूर्व वृद्धि होगी। तेजस का नया प्लांट, देश के सामने न केवल स्वदेशीकरण बल्कि कोविड जैसी आपदा में भी अवसर का एक बड़ा उदाहरण प्रस्तुत करता है।''

उद्घाटन समारोह में रक्षा मंत्री द्वारा कही गईं बातें-

  • हाल ही में आप लोगों ने देखा होगा, IMF द्वारा post Covid इकोनॉमी को लेकर जारी की गई लिस्ट में, तमाम बड़े देशों को पीछे छोड़ते हुए भारत एकमात्र ऐसा देश है, जिसकी projected growth, double-digit, यानी 11.5 फ़ीसदी है।

  • देश में एयरोनॉटिक्स के सेक्टर में, HAL, आजादी के पहले से ही अपनी अहम भूमिका निभा रही है। हमारे देश की Socio Economic प्रगति में, जिन पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग्स का योगदान रहा है, HAL का नाम उन में अग्रणी है।

  • कोविड के समय में भी, HAL ने अपनी कार्यक्षमता पर कोई असर नहीं पड़ने दिया। अपने इतिहास, और वर्तमान की बड़ी उपलब्धि, दोनों ही दृष्टियों से यह बाकी PSUs, खासकर DPSUs के लिए अनुकरणीय है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co