राज्यसभा ने नवंबर में अपना कार्यकाल पूरा करने वाले 11 सदस्यों को दी विदाई

राज्यसभा ने आज नवंबर में अपना कार्यकाल पूरा करने वाले सदस्यों को विदाई दी व सभापति एम वेंकैया नायडू ने इन सदस्यों के काम काज की सराहना कर सभी सदस्यों ने उनके दोबारा चुनकर सदन में वापस आने की कामना की।
राज्यसभा ने नवंबर में अपना कार्यकाल पूरा करने वाले 11 सदस्यों को दी विदाई
राज्यसभा ने नवंबर में अपना कार्यकाल पूरा करने वाले 11 सदस्यों को दी विदाईSocial Media

नई दिल्ली। देश में संसद के मानसून सत्र चल रहा है, जिसका बुधवार को अंतिम दिन है। हालांकि, पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार सत्र 1 अक्टूबर तक चलना था, लेकिन कोविड-19 महामारी के कारण 18 दिन के सत्र की अवधि कम करने का फैसला किया गया है। इसी बीच आज राज्यसभा ने नवंबर में अपना कार्यकाल पूरा करने वाले सदस्यों को विदाई दी है।

नवंबर में सेवानिवृत्त हो रहे 11 सदस्य :

इस दौरान सभापति एम वेंकैया नायडू ने सदन की कार्यवाही शुरू होने के बाद ये जिक्र किया कि, इस वर्ष नवंबर में इस सदन के कुछ सदस्य अपना कार्यकाल पूरा कर लेंगे। उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के 11 सदस्य नवंबर में सेवानिवृत्त हो रहे हैं। इन सदस्यों में नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी, भाजपा सदस्य नीरज शेखर और अरुण सिंह, सपा के राम गोपाल यादव, रवि प्रकाश वर्मा, जावेद अली खान और चंद्रपाल सिंह यादव, कांग्रेस के राज बब्बर और पी एल पुनिया तथा बसपा के वीर सिंह और राजा राम शामिल हैं।

सभापति एम वेंकैया नायडू ने सेवानिवृत्त हो रहे सदस्यों को उनके भविष्य के लिए शुभकामनाएं देते हुए सदन और विभिन्न संसदीय समितियों में उनके योगदान का उल्लेख किया और कहा कि, ''उन्हें उम्मीद है कि कई सदस्य पुन: निर्वाचित होकर वापस आएंगे, जो सदस्य वापस नहीं आएंगे, उनकी कमी खलेगी।''

ऐसे सदस्यों को आगे के जीवन में यहां मिले अनुभव से मदद मिलेगी। उम्मीद है सेवानिवृत्त होने के बाद भी वे विभिन्न तरीके से लोगों की सेवा करते रहेंगे।

सभापति एम वेंकैया नायडू

भाजपा के नीरज शेखर ने कहा :

इस मौके पर भाजपा के नीरज शेखर ने कहा कि, ''यह उनका सौभाग्य है कि वह लोकसभा और राज्यसभा, दोनों के सदस्य बने। बचपन में वह अपने पिता (पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर) के साथ संसद भवन आया करते थे और जब सत्र नहीं चलता था तो राज्यसभा एवं लोकसभा में खेलते थे। उस दिनों इतनी सुरक्षा नहीं होती थी। उन्होंने कहा कि वह भी सांसद बनना चाहते थे। हमारा दायित्व होना चाहिए कि हम बच्चों का भविष्य बनाएं। उनकी कामना है कि अपना देश स्वच्छ, शिक्षित और शक्तिशाली बने।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co