अभी घर लौटने के मूड़ में नहीं राकेश टिकैत- अब दिया यह बड़ा बयान
अभी घर लौटने के मूड़ में नहीं राकेश टिकैत- अब दिया यह बड़ा बयानPriyanka Sahu -RE

अभी घर लौटने के मूड में नहीं राकेश टिकैत- अब दिया यह बड़ा बयान

दिल्‍ली की सीमाएं खाली करके आंदोलनकारी किसान अपने घरों की ओर रवाना हो रहे हैं, लेकिन भारतीय किसान यूनियन (BKU) के नेता राकेश टिकैत अभी घर वापसी के मूड में नहीं हैं। अब उन्‍होंने यह बयान दिया...

दिल्‍ली, भारत। कृषि कानूनों के विरोध को लेकर शुरू हुआ किसानों के आंदोलन आखिरकार समाप्त हो ही गया है। किसानों के आंदोलन स्थगित करने के फैसला के बाद अब आंदोलनकारी किसानों का घर वापसी का दौर शुरू हो गया है। दिल्‍ली की सीमाओं से अब तंबू हटाने का काम शुरू हो गया एवं किसानों ने आज सुबह से दिल्‍ली की सीमाएं खाली करके अपने घरों की ओर जाना शुरू कर दिया है, लेकिन अभी भारतीय किसान यूनियन (BKU) के नेता राकेश टिकैत घर वापसी के मूड में नहीं हैं, क्‍योंकि अब उन्‍होंने यह बड़ा बयान दिया है।

हम 15 दिसंबर को घर जाएंगे :

दरअसल, गाजीपुर बॉर्डर पर BKU के नेता राकेश टिकैत ने आज शनिवार को यह बयान दिया है कि, ''आज से किसान अपने-अपने घर जा रहे हैं, लेकिन हम 15 दिसंबर को घर जाएंगे क्योंकि देश में हजारों धरने चल रहे हैं, हम पहले उन्हें समाप्त करवाएंगे और उन्हें घर वापस भेजेंगे। किसानों का एक बड़ा समूह रविवार सुबह 8 बजे क्षेत्र खाली कर देगा। आज की बैठक में हम बात करेंगे, प्रार्थना करेंगे और उन लोगों से मिलेंगे जिन्होंने हमारी मदद की। लोगों ने प्रदर्शन स्थल खाली करने भी शुरू कर दिए हैं, इसमें 4-5 दिन लगेंगे। मैं 15 दिसंबर को निकलूंगा।''

किसानों का जत्था बिजनौर रवाना :

आज सुबह 8.30 बजे ही गाजीपुर बॉर्डर से किसान नेता राकेश टिकैत ने किसानों के जत्थे को बिजनौर के लिए रवाना किया। तो वहीं, किसान आंदोलन स्‍थगित होने के बाद दिल्‍ली के सिंघु बॉर्डर पर किसान बड़ी संख्या में जश्‍न मना रहे हैं। साथ ही बॉर्डर पर किसान ट्रैक्‍टरों और ट्रकों के जरिये अपने घरों की ओर लौट रहे हैं।

बता दें कि, आंदोलनकारी किसानों ने सिंघु, टिकरी और गाजीपुर सीमाओं पर राजमार्गों पर नाकेबंदी हटा दी और तीन विवादास्पद कृषि कानूनों को निरस्त करने और फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर कानूनी गारंटी के लिए एक समिति गठित करने सहित उनकी अन्य मांगों को पूरा करने के लिए केंद्र के लिखित आश्वासन का जश्न मनाने के लिए एक 'विजय मार्च' निकाला।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co