रूस ने किया वादा पूरा, सुरक्षित दिल्ली पहुंचे मेडिकल सप्लाई से भरे 2 विमान
दिल्ली पहुंचे मेडिकल सप्लाई से भरे 2 विमान Social Media

रूस ने किया वादा पूरा, सुरक्षित दिल्ली पहुंचे मेडिकल सप्लाई से भरे 2 विमान

कोरोना संकट के बिच भारत के पुराने दोस्त देश रूस ने मदद का हाथ बढ़ाने का ऐलान किया था। वहीं, अब आज रूस ने अपना वादा पूरा करते हुए भारत दो विमान भेजे हैं।

रूस-भारत। आज भारत की सबसे बड़ी समस्या कोरोना के साथ ही ऑक्सीजन की कमी भी बन चुकी है। भारत के अलग-अलग राज्यों से अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन की किल्लत होने की खबरें लगातार सामने आ रही हैं। यही कारण है कि, भारत में मौत का आंकड़ा भी लगातार बढ़ता जा रहा है। ऐसे हाल में जब भारत को कोई उम्मीद नजर नहीं आ रही थी तब भारत के पुराने दोस्त देश रूस ने मदद का हाथ बढ़ाने का ऐलान किया था। वहीं, अब आज रूस ने अपना वादा पूरा करते हुए भारत दो विमान भेजे हैं।

रूस ने किया अपना वादा पूरा :

दरअसल, भारत में इस महामारी के संकट के बीच रूस ने एक भरोसेमंद दोस्त की भूमिका निभाते हुए भारत को कोरोना महामारी से लड़ने के लिए मेडिकल उपकरणों से भरे दो विमान भेजे हैं। जो आज यानी गुरुवार को दिल्ली हवाई अड्डे पर उतरे। खबरों की मानें तो, रूस द्वारा भेजे गए इन स्पेशल विमानों में 20 ऑक्सीजन कंसेनट्रेटर, 75 वेंटिलेटर्स, 150 बेडसाइड मॉनिटर्स और दवाइयां मौजूद हैं। सरल शब्दों में समझे तो रूस द्वारा भारत को 22 मीट्रिक टन राहत सामग्री भेजी गई है, जो अब भारत के अलग-अलग राज्यों के अस्पतालों तक पहुंचाई जाएगी।

रुसी राष्ट्रपति और भारतीय PM की बातचीत :

बताते चलें, कोरोना से लड़ने के लिए इस मदद को लेकर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूस के राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन से बीते बुधवार फोन कॉल पर बात की थी। इसके बाद रूस द्वारा यह स्पेशल विमान रवाना कर दिए गए जो गुरुवार को को भारत सुरक्षित पहुंच गए है। दोनों नेताओं की यह बातचीत के दौरान कोरोना महामारी के अलावा दोनों देशों से जुड़े कई द्विपक्षीय मुद्दों पर भी चर्चा हुई। इस बातचीत के बाद PMO द्वारा जारी बयान में कहा गया था कि, 'पीएम मोदी ने राष्ट्रपति पुतिन को कॉल करने के लिए शुक्रिया कहा। साथ ही भारत को मदद करने के लिए उनका आभार भी जताया।

रूस का बयान :

रूस द्वारा जारी किए गए बयान में कहा गया है कि, 'राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन ने कोरोना वायरस से निपटने में मोदी सरकार को अपना समर्थन व्यक्त किया, साथ ही उन्हें बताया कि भारत की मदद के लिए वे इमरजेंसी हेल्प भेज रहे हैं।' बताते चलें, अगले महीने रूस की कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक वी (Sputnik V) भी भारत पहुंचाई जाएगी। इसके पहुंचते ही भारत के पास कोविशील्ड और कोवैक्सीन के बाद भारत के पास यह तीसरी वैक्सीन उपलब्ध होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co