Raj Express
www.rajexpress.co
संत रविदास मंदिर निर्माण
संत रविदास मंदिर निर्माण |Sushil Dev
भारत

संत रविदास मंदिर निर्माण पर संतों का सरकार को अल्टीमेटम

संत रविदास मंदिर निर्माण संबंधी विवाद इस कदर बढ़ता जा रहा है कि, देश के अन्य भूभाग से भी इस आंदोलन को बढ़ाने के समर्थन मिल रहे हैं। संत समाज ने सरकार को कार्यवाही के लिए 13 सितंबर तक का अल्टीमेटल दिया

Sushil Dev

राज एक्सप्रेस। दिल्ली के जंतर-मंतर पर यहां के तुगलकाबाद स्थित संत गुरू रविदास मंदिर को उसके मूल स्थान पर निर्माण के लिए बीते 30 अगस्त शुरू हुआ, अनिश्चितकालीन धरना गुरूवार 5 सितंबर 2019 को सातवें दिन समाप्त हो गया। धरने को अनेकों संगठनों और राजनीतिक दलों के नेताओं ने संबोधित किया और अपने-अपने संगठन या पार्टी की ओर से आंदोलन समेत उसकी मांगों का समर्थन किया। आंदोलन में शामिल हुए संतों ने सरकार को 13 सितंबर तक उनकी मांगे ना मानने पर राष्ट्रव्यापी अभियान चलाने की घोषणा की है।

इन संतों का समर्थन :

धरने को रविदासिया समाज के डेरा बाबा लाल दास के पीठधीश्वर संत निर्मल दास, पंजाब राज्य की गुरु रविदास साधु संप्रदाय सोसायटी के अध्यक्ष बाबा महेंद्र पाल, संत जसविंदर सिंह, संत टहलदास, संभल के डेरा रविदासी महाराज के अनेकों संत शामिल हुए। ज्ञात हो कि, आंदोलन को पहले ही ऑल इंडिया अंबेडकर महासभा, भीम आर्मी, अखिल भारतीय रविदासिया धर्म संगठन, ऑल इंडिया चमार महासभा, बाल्मीकी महासभा, राष्ट्रीय दलित महासभा, राष्ट्रीय दलित महिला आंदोलन, आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति, द दिल्ली एससी वेलफेयर असोसिएशन, अंबेडकर भवन, भारतीय बौद्ध महासभा आदि समर्थन दे चुके हैं।

संत रविदास मंदिर निर्माण पर संतों का सरकार को अल्टीमेटम