दिल्ली की हवा हुई फिर जहरीली, प्रदूषण से बेहाल होकर बंद करने पड़े शैक्षणिक संस्थान
दिल्ली की हवा हुई फिर जहरीलीSocial Media

दिल्ली की हवा हुई फिर जहरीली, प्रदूषण से बेहाल होकर बंद करने पड़े शैक्षणिक संस्थान

इन दिनों दिल्ली एक बार फिर खतरनाक स्‍तर से बढ़ रहे प्रदूषण का सामना कर रही है। जिसके चलते आज सोमवार से दिल्ली में शैक्षणिक संस्थानों को बंद कर दिया गया और कर्मचारियों को घर से काम करने के आदेश दिए गए।

दिल्ली, भारत। आज देश में प्रदूषण बहुत तेजी से बढ़ता जा रहा है, लेकिन राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में फैलने वाला प्रदूषण नाम से ही जाना जाता है। यहां कि, हवा मानो ऐसी होती है जैसे किसी ने हवा में जहर घोल दिया हो, लोगों का सांस लेना दूभर हो जाता है। वहीं, इन दिनों दिल्ली एक बार फिर खतरनाक स्‍तर से बढ़ रहे प्रदूषण का सामना कर रही है। जिसके चलते आज सोमवार से दिल्ली में शैक्षणिक संस्थानों को बंद कर दिया गया हैं। साथ ही कर्मचारियों को घर से काम करने के आदेश दिए गए हैं।

दिल्ली में बंद हुए शैक्षणिक संस्थान :

दरअसल, दिल्ली-NCR की हवा इन दिनों एक बार फिर जहरीली होती जा रही है। यहां प्रदूषण का स्तर बहुत तेजी से बढ़ रहा है। क्योंकि, पिछले कई दिनों से एयर क्वालिटी बहुत खराब हो गई है और आने वाले समय में यहां हवा और अधिक खराब होने के पूरे आसार नजर आरहे हैं। इन सब को मद्देनजर रखते हुए आज सोमवार से एक सप्ताह के लिए राज्य के सभी स्कूल, कॉलेज और शैक्षणिक संस्थानों को बंद कर दिया गया है। जबकि, आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को छोड़कर सभी सरकारी कार्यालयों, एजेंसियों आदि से अपने कर्मचारियों को घर से काम करने के आदेश जारी किए गए हैं। वहीं, इस दौरान फैक्ट्रियों का निर्माण कार्य भी बंद कर दिया गया है।

SAFAR की जानकारी :

सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फॉरकास्टिंग एंड रिसर्च (SAFAR) द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, यहां, सोमवार को भी एयर क्वालिटी बहुत खराब देखी गई क्योंकि, हवा का ओवरऑल एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 318 दर्ज किया गया है। बताते चलें, दिल्ली में प्रदूषित हवा के चलते पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट ने नाराजगी जाहिर करते हुए प्रदूषण पर लगाम के लिए राज्य में लॉकडाउन लगाए जाने की सलाह दी थी। हालांकि, फिलहाल सिर्फ स्कूल, कॉलेज और शैक्षणिक संस्थानों को बंद किया गया है। दिल्ली-NCR के अन्य शहरों में भी एयर क्वालिटी काफी जहरीली बताई जा रही है।

कैसे मापते हैं एयर क्वालिटी ?

जानकारी के लिए बता दें, किसी भी राज्य की एयर (हवा) क्वालिटी मापनी हो तो उसे कुछ इस तरह मापते हैं -

  • 0 से 50 के बीच एक्यूआई को 'अच्छा'

  • 51 और 100 को 'संतोषजनक'

  • 101 और 200 को 'मध्यम'

  • 201 और 300 को 'खराब'

  • 301 और 400 के बीच 'बहुत खराब'

  • 401 और 500 को 'गंभीर'

दिल्ली में एयर क्वालिटी :

  • गाजियाबाद में 331 दर्ज की गई है।

  • गुरुग्राम में 287 दर्ज की गई है।

  • नोएडा में 321 दर्ज की गई है।

  • फरीदाबाद में 298 दर्ज की गई है।

  • ग्रेटर नोएडा में 310 दर्ज की गई है।

इनका कहना :

मौसम विभाग (IMD) ने कहा कि, 'इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयर पोर्ट पर विजिबिलिटी का लेवल 1,500 से 2,200 मीटर और सफदरजंग हवाई अड्डे पर 1,000 से 1,500 मीटर तक था।' जबकि, SAFAR एजेंसी ने आशंका जताते हुए कहा है कि, 'शांत हवा के हालात के कारण 16 नवंबर की रात से एयर क्वालिटी और अधिक खराब हो सकती है। 17 नवंबर को यह 'बेहद खराब' कैटेगरी के ऊपरी छोर पर रहने की संभावना है।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.