school syllabus and books will change on HRD Minister instructions
school syllabus and books will change on HRD Minister instructions|Kavita Singh Rathore -RE
भारत

HRD मंत्री के निर्देशों से होगा स्कूली सिलेबस और किताबों में बदलाव

HRD मंत्री ने अहम फैसला लेते हुए 9वीं से लेकर 12वीं तक की कक्षाओं का सिलेबस और किताबें बदलने का फैसला किया है। कक्षाओं का सिलेबस बदलकर नया सिलेबस तैयार करने का काम शुरू कर दिया गया।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते प्रकोप के चलते भारत में जो लॉकडाउन लागू किया गया था। उसका प्रभाव हर क्षेत्र में पड़ता नजर आ रहा है। जी हां, चाहे वह प्राइवेट सेक्टर हो या गवर्नमेंट सेक्टर, कोई कार्यालय हो या विद्यालय। देश में लगे लॉकडाउन के चलते कई बदलाव आए हैं। इसमें बदलावों में स्कूली कक्षाओं के सिलेबस पैटर्न और किताबों में बदलाव होना तय है। वहीं, आज इस बारे में केंद्रीय मानव संसाधन विकास (HRD) मंत्री द्वारा जानकारी दी गई।

बदलेगा CBSE बोर्ड का पैटर्न :

दरअसल, देश में लगातार इतने दिन के लॉकडाउन के कारण स्टूडेंट्स की क्लासेज का नुकसान हुआ है, यदि देश में अभी लॉकडाउन का माहौल नहीं होता या कोरोना नहीं फैल रहा होता तो, अभी तक क्लास शुरू हो गई होतीं और सिलेबस का कुछ हिस्सा खत्म कर दिया गया होता, परंतु लॉकडाउन के चलते क्लासेस अभी तक शुरू नहीं हो पाई हैं। इसलिए HRD मंत्री ने अहम फैसला लेते हुए 9वीं से लेकर 12वीं तक की कक्षाओं का सिलेबस और किताबें बदलने का फैसला किया है। बता दें, सिलेबस को पहले की तुलना में थोड़ा कम कर दिया गया है।

HRD मंत्री ने दी जानकारी :

केंद्रीय मानव संसाधन विकास (HRD) मंत्री द्वारा बताया गया है कि, स्कूली शिक्षा के लिए राष्ट्रीय पाठ्यक्रम की रूपरेखा (NCF) में यह बदलाव 15 साल बाद किया जा रहा है। पाठ्यकर्म की नई रूपरेखा दिसंबर तक तैयार हो जाएगी और नया सिलेबस मार्च 2021 तक तैयार हो जाएगा। मंत्रालय द्वारा एक बयान जारी कर कहा गया है कि, ‘‘कक्षाओं का सिलेबस बदलकर नया सिलेबस तैयार करने का काम शुरू कर दिया गया है। NCERT से उम्मीद है कि, वह नए सिलेबस के अनुसार ही किताबों में बदलाव करेंगे।"

विशेषज्ञ करेंगे बदलाव :

HRD मंत्री ने बताया कि, स्कूल के सिलेबस में जो भी बदलाव किया जाएगा उसके लिए जो भी प्रक्रिया है उसकी शुरुआत विषयों के विशेषज्ञ द्वारा की जाएगी और दिसंबर 2020 तक उन्हें अंतरिम रिपोर्ट देनी होगी। उन्होंने आगे बताया कि, नया सिलेबस मार्च 2021 तक तैयार हो जाने की संभावना है। बताते चलें, NCERT की किताबों में पिछले 55 सालों में मात्र पांच बार बदलाव किया गया है। जो की, साल 1975, 1988, 2000 और 2005 में किया गया है।

किताबों में होगा बदलाव :

नए सिलेबस के अनुसार, कक्षा पहली से 12वीं तक की सभी किताबों में बदलाव किया जाएगा। HRD मंत्रालय द्वारा NCERT से कहा है कि वह यह बदलाव ऐसे छात्रों के लिए कर रहे हैं, जिनके पास इंटरनेट की सुविधा नहीं है। NCERT पहली से पांचवीं कक्षा तक के लिए नया सिलेबस दिसंबर 2020 तक और 6वीं से 12वीं तक के लिए नया सिलेबस जून 2021 तक तैयार करलें।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co