दिल्ली: स्कूलों को लेकर केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला

राजधानी में कोरोना का स्तर देखते हुए आज यानि शुक्रवार को दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने स्कूलों को लेकर आज एक बड़ा फैसला लेते हुए सर्कुलर जारी किया है।
दिल्ली: स्कूलों को लेकर केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला
Schools will closed till 5th October in DelhiSocial Media

नई दिल्ली। आज पूरे देश में कोरोना का आंकड़ा 52 लाख के पार पहुंच चुका है। हालांकि, देश में कोरोना से बने हालातों को मद्देनजर रखते हुए मार्च से ही स्कूल बंद कर दिए गए थे। बिच में स्कूल्स को खोलने को लेकर विचार किया गया था, परंतु कोरोना के मामलों को देखते हुए इस पर रोक लगा दी गई थी। पूरे देश में कुछ राज्यों में कोरोना का प्रकोप बहुत बड़े स्तर पर है। इन राज्यों में देश की राजधानी दिल्ली का नाम भी शामिल है। राजधानी में कोरोना का स्तर देखते हुए आज यानि शुक्रवार को दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने स्कूलों को लेकर आज एक बड़ा फैसला लेते हुए सर्कुलर जारी किया है।

स्कूलों को लेकर केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला :

दरअसल, दिल्ली में कोरोना के मामलों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। इन मामलों को देखते हुए ही दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने स्टूडेंट्स को कोरोना के बुरे प्रभाव से बचाने के लिए अहम् फैसला लेते हुए सभी स्कूलों को 5 अक्टूबर तक बंद रखने का फैसला किया हैं। केजरीवाल सरकार ने इस मामले में एक सर्कुलर जारी कर सभी स्कूलों ले किये यह घोषणा की है। जब तक कोरोना से बने हालत काबू में नहीं आजाते तब मुख्यमंत्री केजरीवाल ने ऑनलाइन क्लासेज को जारी रखने का भी फैसला सुनाया है।

दिल्ली सरकार का सर्कुलर :

बताते चलें, दिल्ली सरकार द्वारा शुक्रवार को एक सर्कुलर जारी कर इस बारे में जानकारी दी। इस सर्कुलर में कहा गया है कि, 'दिल्ली के सभी स्कूल 5 अक्टूबर 2020 तक बंद रहेंगे। साथ ही इस दौरान ऑनलाइन क्लासेस और एक्टिविटीज पहले की तरह ही जारी रहेंगी।' बताते चलें, इससे पहले केजरीवाल सरकार द्वारा स्कूलों को लेकर लिए गए फैसले में सभी स्कूलों को 30 सितंबर तक बंद रखने का फैसला किया था। यानि 1 अक्टूबर से देश की राजधानी में स्कूल खुलने वाले थे लेकिन। अब केजरीवाल सरकार ने एक बार फिर यह स्पष्ट कर दिया है कि, अभी स्कूल नहीं खुलेंगे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co