Raj Express
www.rajexpress.co
नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में भोपाल भी हुआ प्रदर्शन।
नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में भोपाल भी हुआ प्रदर्शन।|रवीना शशि मिंज
भारत

CAA का भोपाल में भी हो रहा विरोध, कई लोगों की हुई गिरफ़्तारी

नागरिकता संशोधन कानून के चलते देश के कई राज्यों में आईपीसी की धारा-144 लागू। राजधानी भोपाल में भी आंदोलन, धरना प्रदर्शन की मनाही।

राज एक्सप्रेस। राजधानी भोपाल और समस्त राज्य में आईपीसी की धारा-144 लागू कर दी गई है। सरकारी प्रशासन का कहना है कि, यह कदम प्रदेश में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए उठाया गया है। अब आंदोलन, धरना प्रदर्शन आदि करने की मनाही होगी।

देश भर में नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के विरोध में प्रदर्शन हो रहे हैं। आंदोलनकारियों का कहना है कि, यह कदम उनके आंदोलन को खत्म करने के लिए उठाया गया है।

देश की राजधानी दिल्ली से 19 दिसंबर 2019 को पूरे देश में इस कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने की मांग उठी थी और देश की कई जगहों से आज प्रदर्शन होने की खबरें सामने आ रही थीं। ऐसे में कई राज्यों में धारा-144 लगाकर सरकार इस विरोध को कमज़ोर और खत्म करने की कोशिश कर रही है।

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, दिल्ली के लाल किले पर भारी संख्या में लोग प्रदर्शन में शामिल हुए। यहां भी धारा-144 लगी हुई है, पुलिस ने कई प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार कर लिया है।

दिल्ली में चल रहे विरोध प्रदर्शन में पुलिस ने सामाजिक कार्यकर्ता और स्वाराज अभियान के संस्थापक योगेन्द्र यादव को भी गिरफ्तार कर लिया है। उनके ट्विटर हैंडल से यह जानकारी दी गई।

वहीं कर्नाटक में हो रहे विरोध प्रदर्शन में पुलिस ने इतिहासकार रामचन्द्र गुहा को गिरफ्तार किया है।

दिल्ली के केन्द्रीय सचिवालय, पटेल चौक, लोक कल्याण मार्ग, उद्योग भवन, आईटीओ, प्रगति मैदान, लाल किला, जामा मस्जिद, चांदनी चौक, विश्वविद्यालय, जामिया मिल्लिया इस्लामिया, जसोला विहार, शाहीन बाद, मुनिरका और खान मार्केट आदि मेट्रो स्टेशन के प्रवेश और निर्गम द्वार भी बंद कर दिए गए हैं। साथ ही इन स्टेशन्स पर मेट्रो नहीं रूकेगी।

वहीं कर्नाटक के कलबुर्गी में हो रहे प्रदर्शन से पुलिस ने 20 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया है।

उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, दिल्ली के कुछ इलाकों और कर्नाटक में आईपीसी की धारा-144 लगाई गई है।

वामपंथी दलों ने बिहार में आज बंद का ऐलान किया था। जिसका असर सुबह से दिखना शुरू हो गया है। इसे कांग्रेस, आरएलएसपी, वीआईपी, एचएएम और जन अधिकार पार्टी का समर्थन मिला है।

अमेरिका भी इस कानून के विरोध में साथ आया है। उन्होंने कहा कि, अमेरिका नागरिकता और धार्मिक स्वतंत्रता जैसे मुद्दों पर देश के अंदर बहस होने को लेकर भारतीय लोकतंत्र का सम्मान करता है। मंत्री माइक पॉम्पिओ ने कहा, 'हम हर जगह अल्पसंख्यकों और धार्मिक अधिकारों की रक्षा की परवाह करते हैं। हम भारतीय लोकतंत्र का सम्मान करते हैं।'

भोपाल के इक़बाल मैदान में 18 दिसंबर को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह, स्थानीय विधायक आरिफ मसूद और शायर इमरान प्रतापगढ़ी के नेतृत्व में विरोध प्रदर्शन का आयोजन हुआ। जिसमें हज़ारों लोगों ने भाग लिया। इस प्रदर्शन में शायर इमरान प्रतापगढ़ी ने जनता को सम्बोधित करते हुए कहा कि, "मेरे भाई नए-नए नारे सीखो, नए-नए पोस्टर्स बनाओ। अहिंसा के नए-नए तरीके निकालो। याद करिए जामिया में जो हिंसा हुई उसके दूसरे ही दिन शाहजाद दिल्ली की 10 डिग्री की ठंड में कपड़े उतार कर जामिया के बाहर खड़ा हो गया और हम सबने देखा कि पुलिस उन पर कार्रवाई नहीं कर पाई।"

"अहिंसा के नए तरीके खोजो, मेरी नई नस्लों लेकिन पत्थर नहीं उठाना। यह मुल्क तुम्हारा है, इस मुल्क की बसें तुम्हारी हैं, इस मुल्क की सम्पत्तियां तुम्हारी हैं, इस मुल्क की जो रेलगाड़ियां हैं वो तुम्हारी हैं। ये इक़बाल मैदान आज एक अलग ही तारीख लिख रहा है। बड़ी तादाद में हमारी मांएं, हमारी बहनें, महिलाएं यहां आ रही हैं, हम उनकी आमद का इस्तक़बाल करते हैं।"

इमरान प्रतापगढ़ी, शायर

विरोध प्रदर्शन की कुछ तस्वीरें-

18 तारीख को भोपाल में हुए विरोध प्रदर्शन की तस्वीरें
18 तारीख को भोपाल में हुए विरोध प्रदर्शन की तस्वीरें
रवीना शशि मिंज
18 तारीख को भोपाल में हुए विरोध प्रदर्शन की तस्वीरें
18 तारीख को भोपाल में हुए विरोध प्रदर्शन की तस्वीरें
रवीना शशि मिंज
18 तारीख को भोपाल में हुए विरोध प्रदर्शन की तस्वीरें
18 तारीख को भोपाल में हुए विरोध प्रदर्शन की तस्वीरें
रवीना शशि मिंज
18 तारीख को भोपाल में हुए विरोध प्रदर्शन की तस्वीरें
18 तारीख को भोपाल में हुए विरोध प्रदर्शन की तस्वीरें
रवीना शशि मिंज
18 तारीख को भोपाल में हुए विरोध प्रदर्शन की तस्वीरें
18 तारीख को भोपाल में हुए विरोध प्रदर्शन की तस्वीरें
रवीना शशि मिंज

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।