शरद पवार ने सुप्रिया सुले और प्रफुल्ल पटेल को बनाया राकांपा का कार्यकारी अध्यक्ष, अजित पवार को लगा झटका

सुप्रिया सुले और प्रफुल्ल पटेल को राष्ट्रवादी पार्टी का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया है। पार्टी के इस फैसले को अजित पवार के लिए झटका माना जा रहा है।
Prafull Patel and Supriya Sule
Prafull Patel and Supriya SuleRaj Express

राज एक्सप्रेस । राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) ने संगठन में बड़ा बदलाव करके सबको चौंका दिया है। एनसीपी प्रमुख शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले और प्रफुल्ल पटेल को पार्टी का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया है। एनसीपी चीफ के इस फैसले के बाद अजित पवार के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है। अभी हाल ही में शरद पवार ने पार्टी प्रमुख की जिम्मेदारी छोड़ने का ऐलान किया था। हालांकि, कार्यकर्ताओं की नाराजगी और नेताओं के मनाने के बाद उन्होंने अपना फैसला वापस ले लिया था, लेकिन अब उन्होंने पार्टी में दो नए कार्यकारी अध्यक्ष बनाकर अजित पवार को चौंका दिया है।

एनसीपी का आज 25वां स्थापना दिवस

एनसीपी का आज 25वां स्थापना दिवस है। पार्टी प्रमुख शरद पवार ने कहा एनसीपी को मजबूत करने के लिए हम सभी लोगों को मिलकर काम करना पड़ेगा। उन्होंने घोषणा की कि प्रफुल्ल पटेल और सुप्रिया सुले को वर्किंग कमेटी का प्रेसिडेंट बनाने का फैसला लिया जा रहा है। सुप्रिया सुले को हरियाणा और पंजाब की जिम्मेदारी दी गई है। शरद पवार ने कहा, अगर 2024 का चुनाव मजबूती से लड़ना है तो सभी विपक्षी पार्टियों को साथ आना होगा। मुझे यकीन है कि इस देश की जनता हमारी मदद करेगी। 23 तारीख को हम सभी बिहार में मिलेंगे, चर्चा करेंगे और एक कार्यक्रम लेकर आएंगे और देश भर में यात्रा करेंगे और इसे लोगों के सामने पेश करेंगे।

संगठन में किसे क्या मिली जिम्मेदारी ?

एनसीपी चीफ शरद पवार ने सुप्रिया सुले को पार्टी का कार्यकारी अध्यक्ष के साथ ही महाराष्ट्र, हरियाणा, पंजाब, महिला युवा और लोकसभा समन्वय की जिम्मेदारी सौंपी है। प्रफुल्ल पटेल को कार्यकारी अध्यक्ष के साथ मध्य प्रदेश, राजस्थान, गोवा की जिम्मेदारी दी गई है। सुनील तटकरे को राष्ट्रीय महासचिव के अलावा ओडिशा, पश्चिम बंगाल, किसान, अल्पसंख्यक विभाग का प्रभारी बनाया गया है। नंदा शास्त्री को दिल्ली का प्रदेश अध्यक्ष और फैसल को तमिलनाडु, तेलंगाना और केरल राज्य की जिम्मेदारी दी गई है।

महाराष्ट्र की जानीमानी राजनेता हैं सुप्रिया सुले

सुप्रिया सुले महाराष्ट्र की जानी मानी राजनेता हैं। वर्तमान में वह राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की नेता और बारामती से सांसद हैं। सुप्रिया सुले बारामती सीट से 2009 से ही सांसद हैं। वह एनसीपी के अध्यक्ष शरद पवार की बेटी हैं। सुप्रिया सुले संसद में अपनी बेबाकी से राय रखती हैं। सुप्रिया सुले का जन्म 30 जून 1969 को पुणे में हुआ था। उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा सेंट कोलंबिया स्कूल से की। इसके बाद सुप्रिया सुले ने मुंबई के जय हिंद कॉलेज से माइक्रोबायोलॉजी से बीएससी की डिग्री हासिल की। सुप्रिया सुले पहली बार साल 2006 में राज्यसभा के सदस्य के रूप में राजनीति में कदम रखा था। वह 2009 में पहली बार बारामती लोकसभा सीट से चुनाव लड़कर सांसद बनीं। 2014 के लोकसभा चुनाव में भी उन्होंने सम्मानजनक अंतर के साथ जीत हासिल की।

बाला साहेब की भांजे से हुआ है सुप्रिया का विवाह

4 मार्च 1991 में सुप्रिया सुले का विवाह सदानंद भालचंद्र सुले के साथ हुआ था। उस समय सुप्रिया एक अखबार में पत्रकार थीं। दोनों की मुलाकात एक पारिवारिक मित्र की पार्टी में हुई थी। सदानंद सुले शिवसेना के संस्थापक बाल साहेब ठाकरे के भांजे हैं, इसलिए सुप्रिया सुले बाल ठाकरे को काका कहती थीं। शादी के बाद सुप्रिया सुले और सदानंद अमेरिका में रहने लगे। इस दौरान सुप्रिया ने बर्कले विश्वविद्यालय से जल प्रदूषण का अध्ययन किया। कुछ समय दोनों सिंगापुर और इंडोनेशिया में भी रहे। सुप्रिया और सदानंद के की दो बच्चें हैं। बेटी का नाम रेवती और बेटे का नाम विजय है।

महाराष्ट्र की राजनीति का बड़ा नाम माने जाते हैं प्रफुल्ल पटेल

प्रफुल्ल पटेल का जन्म महाराष्ट्र के गोंदिया में हुआ। उनके पिता मनोहरभाई पटेल बीड़ी का कारोबार करते थे। साथ ही वो एक सफल बिजनेसमैन थे। इसके साथ मनोहर भाई गोंदिया सीट से कांग्रेसी विधायक थे। उन्हें इंदिरा गांधी, मोरारजी देसाई, यशवंत राव चव्हाण और बाबूभाई पटेल जैसे नेताओं का करीबी माना जाता था। प्रफुल्ल पटेल ने अपने पिता के नक्शेकदम पर चलते हुए राजनीति में कदम रखा। हालांकि, जब मनोहर भाई पटेल की मौत हुई तो प्रफुल्ल की उम्र केवल 13 वर्ष थी। इसी वक्त महाराष्ट्र की सियासत में शरद पवार का नाम बड़ा हो रहा था और उनका सानिध्य प्रफुल्ल पटेल को भी मिला। वह शरद पवार के बेहद नजदीकी नेता माने जाते हैं। सुप्रिया सुले और प्रफुल्ल पटेल को सौंपी गई इस जिम्मेदारी से अजित पवार को तगड़ा झटका लगा है। इस बारे में शरद पवार ने कोई स्पष्टीकरण भी नहीं जाहिर किया है। अजित पवार शरद पवार के बड़े भाई अनंतराव पवार के बेटे हैं। अजित पवार का जन्म 22 जुलाई 1959 को हुआ था। अजित के पिता अनंतराव मशहूर फिल्म निर्देशक वी. शांताराम के साथ काम कर चुके हैं। उनके पिछले कुछ समय से शरद पवार के साथ संबंध अच्छे नहीं चल रहे हैं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co