युद्ध खतरों के बीच भारत हर मोर्चे पर सतर्क-शौर्य मिसाइल का किया सफल परीक्षण
युद्ध खतरों के बीच भारत हर मोर्चे पर सतर्क-शौर्य मिसाइल का किया सफल परीक्षणSocial Media

युद्ध खतरों के बीच भारत हर मोर्चे पर सतर्क-शौर्य मिसाइल का किया सफल परीक्षण

ओडिशा के बालासौर से भारत ने आज फिर एक मिसाइल का सफल परीक्षण किया, DRDO द्वारा आज शनिवार को आधुनिक 'शौर्य मिसाइल' के नए वर्जन का सफल परीक्षण कर लिया है।

ओडिशा: सारी दुनिया में कोरोना वायरस का खौफ बढ़ता ही चला जा रहा है, तो वहीं पड़ोसी दुश्मन देशों से लगातार बढ़ते युद्ध के खतरों के बीच भारत हर मोर्चे पर अपनी तैयारी को तेज कर रहा है एवं एक के बाद एक लगातार कई मिसाइलों के सफल परीक्षण को अंजाम देकर दुश्मन के होश उड़ा रहा है। अब आज शनिवार को भारत ने 'शौर्य मिसाइल' का सफल परीक्षण किया है।

शौर्य मिसाइल के नए वर्जन का सफल परीक्षण :

सरकार के सूत्रों की ओर से सामने आई जानकारी के अनुसार, इस मिसाइल का परीक्षण तटीय ओडिशा के बालासोर में किया गया। शौर्य मिसाइल के इस नए संस्करण के जरिए 800 किमी दूर स्थित लक्ष्य पर भी निशाना लगाया जा सकता है। शौर्य मिसाइल के आने से मौजूदा मिसाइस सिस्टम को मजबूती मिलेगी और यह मिसाइल संचालित करने में हल्की और आसान होगी।

देश को पूर्ण रूप से आत्मनिर्मर बनाने का प्रयास :

कोरोना जैसी महामारी के दौरान में प्रधनमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा इस साल 'आत्मनिर्भर भारत' की घोषणा के बाद से डिफेंस रिसर्च एंड डिवेलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (डीआरडीओ) स्ट्रैटिजिक मिसाइल के फील्ड में देश को पूर्ण रूप से आत्मनिर्भर बनाने के प्रयास में हैं।

बता दें, इससे पहले भारत ने बुधवार को 'ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल' का सफल परीक्षण किया था, जो 400 किलोमीटर से ज्यादा दूरी तक टारगेट को ध्वस्त कर सकती है। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने ओडिशा के बालासोर में जमीन से पीजे-10 प्रोजेक्ट के तहत मिसाइल का परीक्षण किया और मिसाइल को स्वदेशी बूस्टर के साथ लॉन्च किया गया। वहीं, 'शौर्य मिसाइल' के पहले परीक्षण की बात करते तो, ये वर्ष 2008 में ओडिशा के चांदीपुर समेकित परीक्षण रेंज से किया गया था। इसके बाद सितंबर 2011 में इसका दूसरा परीक्षण किया गया था। पहले इसकी क्षमता 750 किलोमीटर दूर तक हथियार ले जाने की थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co