भारत में हुआ 'Prithvi-II' का सफल परिक्षण
भारत में हुआ 'Prithvi-II' का सफल परिक्षण Social Media

'Agni-5' के बाद भारत को मिली एक और दमदार मिसाइल, 'Prithvi-II' का हुआ सफल परिक्षण

बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-5 (Agni-5) का सफल परीक्षण हुए अभी एक महीना पूरा भी नहीं हुआ है और भारत ने पृथ्वी-2 (Prithvi-II) जैसी एक और उपलब्धि हासिल कर ली है।

Prithvi-II Successfully Tested : आज भारत भी कई तरह की अस्त्र -शस्त्र शक्तियों में अन्य कई देशों से कम नहीं है। अब भारत में भी आए दिन बड़ी मिसाइल या किसी अन्य सैन्य विमान का सफल परीक्षण होने की खबर सामने आती रहती है। वहीँ, पिछले साल के आखिरी महीने में भारत द्वारा बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-5 (Agni-5) का सफल परीक्षण करने की जानकारी दी गई थी। जो भारत की ताकत को और ज्यादा बढ़ाने में काफी मददगार है। वहीं, उस परीक्षण को हुए अभी एक महीना भी पूरा नहीं हुआ है और भारत ने पृथ्वी-2 (Prithvi-II) जैसी एक और उपलब्धि हासिल कर ली है।

क्या है पृथ्वी-2 ?

दरअसल, आज भारत कई बड़े और शक्तिशाली देशों से कहीं भी पीछे नहीं है। चाहे वो सैन्य बल के मामले में ही क्यों न हो। भारत लगातार किसी न किसी परीक्षण की तैयारी में जुटा रहता है। वहीं, भारत ने मंगलवार को एक और सफल परीक्षण कर दिखाया है। जो कि, पृथ्वी-2 (Prithvi-II) का है। जानकारी के लिए बता दें, पृथ्वी-2 (Prithvi-II) सामरिक बैलिस्टिक मिसाइल है। जिसका सफल परिक्षण भारत ने 10 जनवरी को ओडिशा तट से किया है। इस बारे में जानकारी रक्षा मंत्रालय द्वारा दी गई है। बता दें, इससे पहले पृथ्वी-2 का परीक्षण पिछले साल जून में ओडिशा के चांदीपुर से किया गया था।

रक्षा मंत्रालय ने दी जानकारी :

रक्षा मंत्रालय ने जानकारी देते हुए बताया है कि, "मिसाइल ने तय लक्ष्य पर बेहद सटीक तरीके से निशाना लगाया। कम दूरी की मारक क्षमता वाली बैलिस्टिक मिसाइल पृथ्वी-2 का सफल परीक्षण 10 जनवरी को ओडिशा तट पर स्थित चांदीपुर समेकित परीक्षण रेंज से किया गया था। प्रतिष्ठित प्रणाली पृथ्वी-2 मिसाइल भारत के परमाणु जखीरे का महत्वपूर्ण हिस्सा है। मिसाइल ने बेहद सटीक तरीके से निशाना लगाया। सफल परीक्षण में मिसाइल के सभी परिचालन और तकनीकी मानदंड सही पाये गए। पृथ्वी-द्वितीय मिसाइल की मारक क्षमता लगभग 350 किलोमीटर है। पृथ्वी-II मिसाइल भारत के रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) की ओर से विकसित एक कम दूरी की, सतह से सतह पर मार करने वाली बैलिस्टिक मिसाइल है। यह भारत की पृथ्वी मिसाइल श्रृंखला का हिस्सा है, जिसमें पृथ्वी-I, पृथ्वी-II, पृथ्वी-III और धनुष शामिल हैं।"

पृथ्वी II की खासियत :

  • पृथ्वी II की सबसे बड़ी खासियत यह है कि, यह एक स्वदेशी मिसाइल है। यानी इसे भारत में ही विकसित किया गया है।

  • ये मिसाइल 500 किलोग्राम तक का पेलोड ले जाने में सक्षम है।

  • पृथ्वी-II शॉर्ट-रेंज बैलिस्टिक मिसाइल है।

  • यह मिसाइल बहुत उच्च स्तर की सटीकता के साथ लक्ष्य को भेदने में सक्षम है।

गौरतलब है कि, इस शॉर्ट-रेंज बैलिस्टिक मिसाइल पृथ्वी-II के सफल परिक्षण को चीन और पाकिस्तान की सीमा पर बने हालातों के चलते भारत द्वारा लगातार अपनी मिसाइल क्षमता मजबूत करने का एक प्रयास माना जा रहा है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co