BRS MLC K. Kavita Statement
BRS MLC K. Kavita Statement Raj Express

BRS MLC on Congress Guarantee : कांग्रेस पार्टी के DNA है कि, जो बोलते है वो करते नहीं - BRS MLC कविता

BRS MLC K. Kavita Statement : BRS MLC कविता ने डीएमके नेता उदयनिधि स्टालिन द्वारा सनातन धर्म पर की गई टिप्पणियों पर राहुल गांधी की चुप्पी पर भी सवाल उठाया।

हाइलाइट्स

  • BRS MLC कविता का राहुल गांधी से किए सवाल।

  • कहा- कर्नाटक में 6 गारंटी देने का वादा किया,पर अभी तक कुछ नहीं किया।

  • डीएमके नेता उदयनिधि स्टालिन के बयान को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना।

BRS MLC Kavita on Udayanidhi Stalin's Statement : हैदराबाद, तेलंगाना। कांग्रेस चुनाव जीतते ही सभी वादे भूल जाती है। उन्होंने कर्नाटक में 6 गारंटी देने का वादा किया था, लेकिन अभी तक कुछ नहीं किया गया है। उन्होंने कर्नाटक में शैक्षणिक संस्थान से हिजाब पर प्रतिबंध हटाने का वादा किया था लेकिन अब इसे लेकर भ्रमित दिख रहे हैं। यह उनके डीएनए (DNA) में है, जो बोलते है वो करते नहीं। यह बात बीआरएस एमएलसी कविता कल्वाकुन्तला ने सोमवार को मीडिया में बयान देते हुए कही है। इसके साथ ही उन्होंने डीएमके नेता उदयनिधि स्टालिन द्वारा सनातन धर्म पर की गई टिप्पणियों पर राहुल गांधी की चुप्पी पर भी सवाल उठाया। कांग्रेस और डीएमके विपक्षी इंडिया गुट में सहयोगी हैं।

बीआरएस नेता के कविता ने कहा कि, यह किसी एक विशेष पार्टी के विचारों के बारे में नहीं है, यह इस बारे में है कि इस प्रकार के बयान हमारे राष्ट्र के ताने-बाने को कैसे बिगाड़ने वाले हैं और यह विशेष पार्टी किस गठबंधन का हिस्सा है। यह भारतीय गुट का हिस्सा है, जिसका नेतृत्व किया जाता है राहुल गांधी की कांग्रेस द्वारा।

डीएमके सांसद दयानिधि मारन की विवादास्पद बयान पर बीआरएस नेता के कविता ने कहा कि, राहुल गांधी लगातार भारत जोड़ो यात्रा के बारे में बहुत सारे बयान देते रहते हैं, जहां वह लगातार देश को एकजुट करने की कोशिश कर रहे हैं। अब, यह एक पीआर स्टंट की तरह लग रहा है क्योंकि उन्हें तब खड़ा होना चाहिए था, बोलना चाहिए था जब सनातन धर्म पर टिप्पणी की गई थी, जो कि है हिंदू भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाली है।

डीएमके सांसद दयानिधि मारन की विवादास्पद बयान

डीएमके सांसद दयानिधि ने कहा, तमिल और अंग्रेजी दोनों के अध्ययन की उनकी पार्टी द्रमुक हमेशा से वकालत करती रही है। तमिलनाडु के लोगों ने इसका अनुसरण किया है। तमिलनाडु के मूल निवासी सुंदर पिचाई का उदाहरण देते हुए मारन ने कहा कि वह अब गूगल के प्रमुख हैं और अगर उन्होंने हिंदी सीखी होती, तो वह विनिर्माण क्षेत्र में श्रमिक के रूप में काम कर रहे होते। वीडियो में वह यह कहते सुनाई देते हैं कि चूंकि तमिलनाडु के बच्चे शिक्षित होते हैं तथा अच्छी अंग्रेजी सीखते हैं, इसलिए उन्हें आइटी क्षेत्र में रोजगार और अच्छा वेतन मिलता है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co