मंत्री सेंथिल बालाजी ने दिया इस्तीफा
मंत्री सेंथिल बालाजी ने दिया इस्तीफाRE

जेल में बंद तमिलनाडु के मंत्री सेंथिल बालाजी ने दिया इस्तीफा, राज्यपाल ने किया मंजूर

वी सेंथिल बालाजी ने अपनी गिरफ्तारी के आठ महीने बाद आखिरकार तमिलनाडु कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया। राज्यपाल ने उनका इस्तीफा मंजूर कर लिया है।

हाइलाइट्स-

  • जेल में बंद तमिलनाडु के मंत्री सेंथिल बालाजी ने दिया इस्तीफा।

  • तमिलनाडु के राज्यपाल ने जेल में बंद मंत्री वी सेंथिल बालाजी का इस्तीफा मंजूर किया।

Money Laundering Case: मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जेल में बंद वी सेंथिल बालाजी ने अपनी गिरफ्तारी के आठ महीने बाद आखिरकार तमिलनाडु कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया। वी सेंथिल बालाजी ने सोमवार को मंत्री पद से इस्तीफा दिया और सीएम एमके स्टालिन के कार्यालय से भी सेंथिल बालाजी के इस्तीफे की पुष्टि हो गई है। वहीं, राज्यपाल ने इस इस्तीफे को स्वीकार कर लिया है।

बता दें कि, मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जेल में बंद वी सेंथिल बालाजी ने अपनी गिरफ्तारी के आठ महीने बाद सोमवार को इस्तीफा दिया। स्टालिन के कार्यालय ने सेंथिल बालाजी के इस्तीफे की पुष्टि करते हुए कहा था कि, उनका इस्तीफा राज्यपाल को भेजा जाएगा। उल्लेखनीय है कि 14 फरवरी को मद्रास हाई कोर्ट वी सेंथिल बालाजी की जमानत याचिका पर सुनवाई करेगा।

जानकारी के लिए बता दें कि, वी सेंथिल बालाजी का इस्तीफा ऐसे समय आया है, जब 14 फरवरी को मद्रास हाईकोर्ट वी सेंथिल बालाजी की जमानत याचिका पर सुनवाई करेगा। इससे पहले ट्रायल कोर्ट से बालाजी की जमानत याचिका खारिज हो चुकी है। हाईकोर्ट में वी सेंथिल बालाजी की जमानत याचिका पर जस्टिस आनंद वेंकटेश सुनवाई करेंगे, जिन्होंने हाल ही में वी सेंथिल बालाजी के गिरफ्तारी के बाद भी मंत्री पद पर रहने की आलोचना की थी। जस्टिस वेंकटेश ने लंबे समय से जेल में बंद नेता के कैबिनेट में होने पर राज्य में प्रशासन और कानूनी मानक को लेकर चिंता जताई थी।

आपको बता दें कि, मंत्री बालाजी की गिरफ्तारी नौकरी के बदले घोटाले के मामले में की गई थी। यह घोटाला 2011 से 2015 तक तमिलनाडु की तत्कालीन मुख्यमंत्री जयललिता के नेतृत्व वाले मंत्रिमंडल में परिवहन मंत्री के रुप में उनके कार्यकाल के दौरान हुआ था।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co