हाईकोर्ट स्थानांतरण को लेकर राज्य सरकार उचित निर्णय ले सकती है : प्रो. बघेल
हाईकोर्ट स्थानांतरण को लेकर राज्य सरकार उचित निर्णय ले सकती है : प्रो. बघेलSocial Media

हाईकोर्ट स्थानांतरण को लेकर राज्य सरकार उचित निर्णय ले सकती है : प्रो. बघेल

केन्द्रीय न्याय एवं विधि राज्य मंत्री प्रो. एस. पी. बघेल ने माना कि भीड़भाड़ से पर्यटक नगरी नैनीताल पर दबाव बढ़ रहा है और राज्य सरकार उच्च न्यायालय के स्थानांतरण को लेकर उचित निर्णय ले सकती है।

नैनीताल। उत्तराखंड के नैनीताल दौरे पर आये केन्द्रीय न्याय एवं विधि राज्य मंत्री प्रो. एस. पी. बघेल ने माना कि भीड़भाड़ से पर्यटक नगरी नैनीताल पर दबाव बढ़ रहा है और राज्य सरकार उच्च न्यायालय के स्थानांतरण को लेकर उचित निर्णय ले सकती है। प्रो. बघेल अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर नैनीताल में आयोजित कार्यक्रम में भाग लेने आये थे। इस दौरान उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि नैनीताल एक महत्वपूर्ण पर्यटक शहर है। वर्तमान में यहां 30 से 40 हजार पर्यटक देश के विभिन्न हिस्सों से प्रतिदिन आ रहे हैं। शहर पर भारी दबाव है। अत्यधिक वाहनों की आवाजाही से छोटे शहर में नियमित जाम की स्थिति से दो चार होना पड़ रहा है।

उन्होंने माना कि यहां अत्याधुनिक बहुमंजिला पार्किंग की जरूरत है। उन्होंने इस प्रकरण को केन्द्रीय पर्यटन मंत्री के समक्ष रखा है। उन्होंने आगे कहा कि उत्तराखंड नवोदित राज्य है। यहां जन सुविधाओं के साथ-साथ शहर के पुरातन (हेरिटेज) स्वरूप को भी देखना जरूरी है। नैनीताल शहर और जनहित को देखते हुए राज्य सरकार उच्च न्यायालय के स्थानांतरण (शिफ्टिंग) को लेकर उचित निर्णय ले सकती है। इससे पहले प्रो. बघेल ने नैनीताल के डीएसए मैदान में आयोजित योग कार्यक्रम का शुभारंभ किया और योगिक क्रियायें कीं। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार की और से सभी केन्द्रीय मंत्रियों को योग दिवस के मौके पर ऐतिहासिक महत्व के अलग-अलग प्रदेशों में भेजा गया है। उन्होंने कहा कि योग भारतीय संस्कृति की पुरातन परंपरा है। हमारे ऋषि मुनियों ने पहले ही योग के महत्व को प्रतिपादित किया है।

उन्होंने आगे कहा कि योग मानव को प्रकृति से जोड़ता है और तन-मन को स्वस्थ बनाता है। योग ने पूरे विश्व को एक सूत्र में बांध दिया। योग कार्यक्रम में सैकड़ों की संख्या में स्थानीय लोगों व छात्र छात्राओं ने प्रतिभाग किया। आर्ट ऑफ लिविंग की योगाचार्य मीनाक्षी जोशी और उनकी टीम की ओर से लोगों को योग मुद्रायें करायी गयीं और उसके महत्व को बताया गया।

इस मौके पर केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल, सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) राज्य आपदा प्रबंधन बल (एसडीआरएफ) के जवानों के अलावा आरएसएस के स्वयं सेवकों के अलावा मोहन लाल साह बाल विद्या मंदिर, सीआरएसटी, भारतीय शहीद सैनिक स्कूल, चेतराम साह ठुलघरिया इंटर कालेज, सेंट मेरीज व आल सेंट्स कालेज की छात्र-छात्राओं ने योग कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। नैनीताल की विधायक सरिता आर्य, कुमाऊं मंडल के आयुक्त दीपक रावत, जिलाधिकारी डीएस गब्र्याल, पुलिस उपमहानिरीक्षक डॉ. नीलेश आनंद भरणे, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पंकज भट्ट, जिला विकास प्राधिकरण के पंकज उपाध्याय आदि अधिकारियों नेे भी योग कार्यक्रम में भाग लिया।

इसके अलावा हल्द्वानी में भी योग कार्यक्रम आयोजित किया गया। मिनी स्टेडियम के बैडमिंटन हाल में आयोजित योग कार्यक्रम का शुभारंभ हल्द्वानी नगर निगम के मेयर जोगेन्द्र रौतेला ने किया। यहां 162 प्रतिभागियों ने योग का लाभ लिया। श्री रौतेला ने इस मौके पर योग के महत्व को बताते हुए योग को अपने जीवन में आत्मसात करने को कहा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co