जगन्नाथ पुरी रथयात्रा 2020
जगन्नाथ पुरी रथयात्रा 2020|Priyanka Sahu -RE
भारत

जगन्नाथ पुरी रथयात्रा 2020: सदियों पुरानी परंपरा बरकरार-SC ने दी इजाजत

जगन्नाथ पुरी यात्रा निकालने को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला पलटते हुए रथयात्रा की अनुमति दे दी है और अब कल शर्तों के साथ भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा निकलेगी। जानें क्‍या है शर्तें...

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

जगन्नाथ पुरी रथयात्रा 2020 : देश में कोरोना वायरस की महामारी का प्रकोप बरकरार है और इसका असर जगन्नाथ पुरी रथयात्रा पर भी पड़ रहा था। इसी बीच आज 22 जून को ओडिशा में भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा पर लगाई गई रोक के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में कई याचिकाओं पर सुनवाई हुई। इस दौरान सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला पलटते हुए भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा निकालने की अनुमति दे दी है।

शर्तों के साथ मिली इजाजत :

हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा निकालने की अनुमति तो दी है, परंतु कुछ शर्तों के साथ ये इजाजत मिली है और इस यात्रा में श्रद्धालु शामिल नहीं हो पाएंगे। सुनवाई के दौरान कोर्ट द्वारा साफ कहा गया है कि, मंदिर कमेटी, राज्य सरकार और केंद्र सरकार के को-ऑर्डिनेशन में यात्रा निकालें, लेकिन लोगों की सेहत से समझौता नहीं होना चाहिए। अगर हालात बेकाबू होते दिखें तो ओडिशा सरकार यात्रा को रोक सकती है।

अगर रथ यात्रा के कारण कोविड 19 का जरा सा भी प्रसार हुआ तो यह विनाशकारी हो सकता है क्‍योंकि इसमें बड़ी संख्‍या में लोग एकत्र होते हैं। पुरी के अलावा ओडिशा में कहीं और यात्रा नहीं निकाली जाएगी।

सुप्रीम कोर्ट

कल निकलेगी जगन्नाथ रथयात्रा :

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से सदियों पुरानी परंपरा नहीं टूटी है अब कल 23 जून को जगन्नाथ पुरी में रथयात्रा निकलेगी और इस यात्रा की तैयारियों को लेकर मुख्यमंत्री नवीन पटनायक मीटिंग करेंगे। इसमें रथ यात्रा के लिए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रॉसिजर (एसओपी) तय किया जाएगा।

जानकारी के लिए बताते चलें, इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने 18 जून को सुनवाई के दौरान पुरी में इस साल की 23 जून को निकलने वाली रथयात्रा को कोरोना वैश्विक महामारी के कारण रोक लगा दी थी और आज सुप्रीम कोर्ट ने भगवान जगन्नाथ रथ यात्रा पर रोक लगाने के अपने 18 जून के आदेश में सुधार का अनुरोध करने वाली याचिका पर सुनवाई की।

याचिका में कही गई थी ये बात :

सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई याचिकाओं में कहा गया था कि, जगन्नाथ रथयात्रा सदियों पुरानी परंपरा है जिसमें करोड़ों लोगों की आस्था है। इस यात्रा को सिर्फ पुरी में ही निकालने की इजाजत दी जाए। मांग की गई है कि पुरी की मुख्य रथयात्रा को ही अनुमति दे दी जाए।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co