असम : सिपाझार में अतिक्रमण हटाने को लेकर हुए विवाद में दो की मौत, कई घायल
असम : सिपाझार में अतिक्रमण हटाने को लेकर हुए विवाद में दो की मौत, कई घायलSocial Media

असम : सिपाझार में अतिक्रमण हटाने को लेकर हुए विवाद में दो की मौत, कई घायल

असम के दरांग जिले के सिपाझार में गुरुवार को अतिक्रमण हटाने को लेकर भयंकर हिंसक झड़प हो गई। इस झड़प के दौरान पुलिस और स्थानीय लोगों के बीच हुए विवाद में दो प्रदर्शनकारियों की मौत हो गई है।

असम, भारत। देश में पहले भी कई राज्यों में अतिक्रमण हटाने को लेकर झड़प हुई है, लेकिन असम के दरांग जिले के सिपाझार में गुरुवार को अतिक्रमण हटाने को लेकर हिंसक झड़प हो गई। यह झड़प पुलिस और स्थानीय लोगों के बीच हुई। जिसने बड़े विवाद का रूप ले लिया और यह विवाद इतना बढ़ गया कि, इस दौरान दो प्रदर्शनकारियों की मौत हो गई है। जबकि, पुलिसकर्मियों के भी घायल होने की खबर सामने आई है।

अतिक्रमण हटाने को लेकर विवाद :

दरअसल, देशभर के कर राज्यों में अतिक्रमण हटाने को लेकर कई मुहिम चलाई जाती है। वहीं, गुरुवार को असम में अतिक्रमण हटाने को लेकर पुलिस और स्थानीय लोगों में बड़ा विवाद हो गया। जिसके चलते दो प्रदर्शनकारियों की मौत हो गई साथ ही 9 पुलिसकर्मी बुरी तरह घायल हो गए। खबरों की मानें तो यह झड़प तब हुई जब पुलिसकर्मियों की एक टीम अतिक्रमण हटाने के लिए असम के दरांग जिले के सिपाझार के इलाके में पहुची। लोगों ने इसे हटाने से रोका और यह छोटा सा मामला बड़ा मुद्दा बन गया।

800 परिवारों को हटाया जा चुका :

बताते चलें, असम सरकार द्वारा पिछले कुछ समय से दरांग जिले के सिपाझार के गोरुखुटी गांव में बड़े पैमाने पर अतिक्रमण हटाने को लेकर अभियान चलाया जा रहा है। इसी अभियान के तहत लगभग 800 परिवारों को हटाया जा चुका है। इस मामले में असम सरकार का दावा है कि, 'ये लोग यहां अतिक्रमण करके रह रहे थे। इस गांव में ज्यादातर पूर्वी बंगाल मूल के लोग रहते हैं।' जबकि, जिले के SP सुशांत बिस्वा सरमा का कहना है कि, 'हिंसा में नौ पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं। दो प्रदर्शनकारियों को गोली लगी है और उन्हें अस्पताल ले जाया गया है।'

स्पेशल डीजीपी का कहना :

स्पेशल डीजीपी जीपी सिंह ने कहा कि इस संबध में दिखाए जा रहे वीडियो में नजर आ रहे कैमरामैन को गिरफ्तार कर लिया गया है। असम सीआईडी ने इस संबंध में मामला दर्ज कर लिया है। असम सरकार ने फैसला किया है कि, वह दरांग जिले के ढालपुर इलाके में हुई पुलिसकर्मियों सहित दो नागरिकों की मौत और कई अन्य लोगों को घायल होने के मामले की जांच करेगी। इस इस मामले में कांग्रेस के दिग्गज नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि, 'मैं राज्य के भाई और बहनों के साथ हूं। भारत का कोई भी नागरिक ऐसे बर्ताव का हकदार नहीं है।'

गौरतलब है कि, असम के दरांग जिले के सिपाझार में पहली बार यह अभियान जून में चलाया गया था। इसके बाद एक फैक्ट फाइंडिंग कमेटी द्वारा यहां का दौरा किया गया था। तब कमेटी ने बताया था कि, यहां से कुल 49 मुस्लिम परिवार और एक हिंदू परिवार को यहां से हटाया गया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.