Raj Express
www.rajexpress.co
सियाचिन में हिमस्खलन की चपेट में
सियाचिन में हिमस्खलन की चपेट में|Social Media
भारत

सियाचिन में हिमस्खलन की चपेट में भारतीय सेना के 2 जवान शहीद

दुनिया के सबसे ऊंचे युद्धक्षेत्र सियाचिन में एवलांच (बर्फीला तूफान) की चपेट में आने से भारतीय सेना के दो जवान शहीद हो गए।

Aditya Shrivastava

राज एक्सप्रेस। दुनिया के सबसे ऊंचे युद्धक्षेत्र सियाचिन में एवलांच (बर्फीला तूफान) की चपेट में आने से भारतीय सेना के दो जवान शहीद हो गए। दक्षिणी सियाचिन ग्लेशियर में 18000 फुट की ऊंचाई पर शनिवार को सेना की पेट्रोलिंग पार्टी बर्फीले तूफान की चपेट में आ गई।

एवलांच रेस्क्यू टीम (एआरटी) तुरंत हरकत में आई और पेट्रोलिंग पार्टी के सभी सदस्यों को बाहर निकालने में कामयाब रही। इसी बीच सेना के हेलिकॉप्टर्स के जरिए जवानों को सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया। लेकिन मेडिकल टीम के सभी प्रयासों के बावजूद सेना के दो जवानों की जान नहीं बचाई जा सकी।

गैरतलब है कि इससे पहले, सियाचिन ग्लेशियर में भारतीय सेना बर्फीले तूफान की चपेट में आ गई थी, इस घटना में 4 जवान शहीद हो गए थे जबकि 2 स्थानीय नागरिकों की मौत हो गई। 8 सदस्यों की पेट्रोलिंग टीम तूफान में फंसी थी।

रेस्क्यू टीम ने तूफान में फंसे 8 सदस्यों को बाहर निकाल लिया, जिसमें 4 जवान इलाज के दौरान शहीद हो गए थे। बर्फीला तूफान नॉर्दन ग्लेशियर में आया, जहां ऊंचाई लगभग 18,000 फीट और उससे अधिक है। जिन जवानों को बर्फीले तूफान का सामना करना पड़ा, वे पेट्रोलिंग पार्टी का हिस्सा थे।

श्रीनगर के रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि सेना का गश्ती दल दक्षिणी सियाचिन ग्लेशियर में 18000 फुट की ऊंचाई पर गश्त कर रहा था जब, शनिवार को दल हिमस्खलन की चपेट में आ गया था। उन्होंने बताया कि एक हिमस्खलन बचाव दल (एआरटी) तुरंत वहा पंहुचा और टीम के सभी सदस्यों का पता लगाने और उन्हें बाहर निकलने में कामयाब रहा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।