पराली के प्रदूषण से निपटने CM केजरीवाल का मुफ्त समाधान-अब 4200 एकड़ में डाला जा रहा घोल
पराली के प्रदूषण से निपटने CM केजरीवाल का मुफ्त समाधान-अब 4200 एकड़ में डाला जा रहा घोलTwitter

पराली के प्रदूषण से निपटने CM केजरीवाल का मुफ्त समाधान-अब 4200 एकड़ में डाला जा रहा घोल

दिल्ली के CM केजरीवाल ने बायो डीकंपोजर बनाने की प्रक्रिया शुरू की और कहा- इस बार 4200 एकड़ में ये घोल डाला जा रहा है और 844 किसान इसका इस्तेमाल कर रहे हैं।

दिल्ली, भारत। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा बीते दिनों पराली से होने वाले प्रदूषण का मुफ्त समाधान ढूंढने के बाद आज शुक्रवार को उन्‍होंने बायो डीकंपोजर बनाने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी और आज वे नजफगढ़ केंद्र पहुंचे।

इस बार 4200 एकड़ में डाला जा रहा घोल :

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि, ''किसानों को इस साल भी पराली का समाधान मिलेगा।'' इस दौरान उन्‍होंने नजफगढ़ केंद्र पर जहां बायो डीकंपोजर घोल बनाने की प्रक्रिया को शुरु की और बताया- पिछली बार दिल्ली में लगभग 300 किसानों ने बायो डी-कंपोजर घोल अपनाया था और 1950 एकड़ में इसे डाला गया था। इस बार 4200 एकड़ में ये घोल डाला जा रहा है और 844 किसान इसका इस्तेमाल कर रहे हैं।

  • किसानों को मिलेगा मुफ्त में समाधान।

  • 844 किसानों को होगा लाभ, 4200 एकड़ को होगा कवर।

  • तीसरे पक्ष के ऑडिट ने इसे सफल बताया।

अन्‍य राज्‍यों को भी करनी चाहिए किसानों की मदद :

इस दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक फिर से अन्‍य राज्‍यों से पराली से होने वाले प्रदूषण को लेकर कहा कि, ''अन्य राज्यों को भी दिल्ली की तरह अपने किसानों की मदद करनी चाहिए।''

अभी तक हम कहते थे पराली का समाधान नहीं है और समाधान के नाम पर महंगी-महंगी बातें होती थीं। अब हमारे पास समाधान हैं वो भी 1000 एकड़ से कम में। दिल्ली में सारा खर्चा हमारी सरकार उठा रही है। हमारी अपील है - बाकी सरकारें भी अपने किसानों की मदद करें।

अरविंद केजरीवाल, दिल्‍ली के मुख्यमंत्री

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा- पराली के प्रदूषण से निपटने के लिए PUSA Institute के साथ मिलकर Bio-Decomposer बनाया। पराली पर इसका छिड़काव करने से वो खाद में तब्दील हो जाती है। केंद्र सरकार की एजेंसी ने पाया कि, जमीन में नाइट्रोजन (Nitrogen), कार्बन (Carbon) और अन्य अच्छे तत्‍व बढ़ जाते हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co