दिल्ली CM ने बिजली संयंत्रों को पर्याप्त कोयला व गैस देने के लिए PM मोदी को लिखा पत्र
दिल्ली CM ने बिजली संयंत्रों को पर्याप्त कोयला व गैस देने के लिए PM मोदी को लिखा पत्रTwitter

दिल्ली CM ने बिजली संयंत्रों को पर्याप्त कोयला व गैस देने के लिए PM मोदी को लिखा पत्र

दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल ने PM नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर राजधानी को बिजली की आपूर्ति करने वाले बिजली संयंत्रों को पर्याप्त कोयला और गैस देने के लिए PMO से हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया।

दिल्‍ली, भारत। देश की राजधानी दिल्‍ली में भी कोयले की कमी का असर दिखने लगा है। इस बीच आज शनिवार को दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस मामले पर पत्र लिखकर प्रधानमंत्री कार्यालय से हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया है।

बिजली संयंत्रों को पर्याप्त कोयला और गैस देने के लिए लिखा पत्र :

दरअसल, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आज जो पत्र लिखा है, उसमें राष्ट्रीय राजधानी दिल्‍ली को बिजली की आपूर्ति करने वाले बिजली संयंत्रों को पर्याप्त कोयला और गैस देने के लिए प्रधानमंत्री कार्यालय से हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया है। इस दौरान CM केजरीवाल ने कोयला संकट पर चिंता व्यक्त करते हुए ट्वीट कर यह भी लिखा-

दिल्ली को बिजली संकट का सामना करना पड़ सकता है। मैं व्यक्तिगत रूप से स्थिति पर कड़ी नजर रख रहा हूं। हम इससे बचने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। इस बीच मैंने माननीय प्रधान मंत्री को एक पत्र लिखकर उनके व्यक्तिगत हस्तक्षेप की मांग की।

अरविंद केजरीवाल, दिल्‍ली के मुख्यमंत्री

मिली जानकारी के अनुसार, दिल्ली में बिजली वितरण करने वाली टाटा पावर ने अपने ग्राहकों को फोन पर मैसेज भेजकर इसकी जानकारी दी है और उनसे आज शनिवार दोपहर बाद से बिजली का विवेकपूर्ण उपयोग करने का आग्रह किया है। तो वहीं, टाटा पावर की शाखा टाटा पावर दिल्ली डिस्ट्रिब्यूशन लिमिटेड (डीडीएल), जो मुख्य रूप से उत्तर-पश्चिमी दिल्ली में काम करती है, उसने अपने ग्राहकों को SMS भेजा है, इस SMS में कहा, ''उत्तर भर में उत्पादन संयंत्रों में कोयले की सीमित उपलब्धता के कारण, दोपहर दो बजे से शाम छह बजे के बीच बिजली आपूर्ति की स्थिति गंभीर स्तर पर है। कृपया विवेकपूर्ण तरीके से बिजली का उपयोग करें। एक जिम्मेदार नागरिक बनें। असुविधा के लिए खेद है - टाटा पावर-डीडीएल।''

बता दें कि, इन दिनों बिजली कंपनी को एक्सचेंज से महंगी बिजली मिल रही है। सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक, दिल्ली को पहले दादरी-2 प्लांट से 800 मेगावाट बिजली मिलती थी, कोयले की कमी के कारण अब सिर्फ 300 मेगावाट बिजली मिल रही है, लेकिन बवाना के गैस बिजली प्लांट में उत्पादन बढ़ा दी गयी है। यहां से पहले 300 मेगावाट बिजली मिलती थी,जिसे बढ़कर 1200 कर दिया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.