दिल्ली के CM केजरीवाल ने ओमिक्रॉन खतरे के बीच केंद्र से मांगी बूस्‍टर डोज की इजाजत
CM केजरीवाल ने केंद्र से मांगी बूस्‍टर डोज की इजाजतSocial Media

दिल्ली के CM केजरीवाल ने ओमिक्रॉन खतरे के बीच केंद्र से मांगी बूस्‍टर डोज की इजाजत

दिल्‍ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज अहम प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ओमिक्रॉन को लेकर दिल्‍लीवासियों को न घबराने का आश्वासन दिया है, साथ ही केंद्र से बूस्टर डोज की इजाजत मांगी है।

दिल्ली, भारत। राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोना के नए ओमिक्रॉन वेरिएंट के बढ़ते खतरे को बीच आज सोमवार को कैबिनेट और दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) की बैठक हुई। इसके बाद दिल्‍ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अहम प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपने संबोधन में ओमिक्रॉन को लेकर दिल्‍लीवासियों को यह आश्वासन दिया है।

दिल्ली के लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है :

प्रेस कॉन्फ्रेंस में CM अरविंद केजरीवाल ने कहा- दिल्ली के लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है। अगर आपको अस्पातलों और दवाओं की जरूरत पडे़गी, तो दिल्ली सरकार ने पूरे इंतजाम कर रखे हैं। हमने बेड से लेकर दवाओं तक सभी इंतजाम कर रखे हैं। ओमिक्रॉन के मामलों से निपटने के लिए हमें अपने होम आइसोलेशन प्रोग्राम को सुदृढ़ करने की जरूरत होगी, जिसके लिए हम 23 दिसंबर को बैठक करेंगे।

दिल्ली में आ रहे सभी कोरोना पॉजिटिव केस जिनोम सिक्वेंसिंग के लिए लैब भेजा जाएगा। इससे यह पता लगाया जा सके कि, दिल्ली में ओमिक्रॉन और अन्य वेरिएंट के कितने केस हैं, ताकि उस हिसाब से आगे की रणनीति बनाई जा सके।

दिल्ली के मुख्यमंंत्री अरविंद केजरीवाल

केंद्र से की बूस्टर डोज लगाने की गुजारिश :

इस दौरान दि‍ल्‍ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार से गुजारिश की है कि, ''वह राजधानी में बूस्टर डोज लगाने की इजाजत दे।'' साथ ही CM केजरीवाल ने मुफ्त राशन वितरण को लेकर किए गए बड़े फैसले और टीचर्स यूनिवर्सिटी पर भी जानकारी देते हुए कहा-

  • मुफ्त राशन योजना को 6 और महीनों के लिए 31 मई 2022 तक बढ़ा दिया गया है।

  • हम दिल्‍ली Delhi टीचर्स यूनिवर्सिटी बनाने जा रहे हैं

  • इस यूनिवर्सिटी में 4 साल का इंटीग्रेटेड कोर्स होगा।

  • टीचर्स Traning के लिए हम राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर Collaboration करेंगे।

  • हमारा मकसद नई पीढ़ी, उत्कृष्ट शिक्षक तैयार करना है।

दिल्ली के CM केजरीवाल ने आगे यह भी बताया कि, ''आज एलजी साहब की अध्यक्षता में डीडीएमए की बैठक हुई जिसमें कई विशेषज्ञ मौजूद थे। उन्होंने ओमिक्रॉन के बारे में कई बातें बताईं जैसे कोरोना का यह वेरिएंट बहुत तेजी से फैलता है, लेकिन इसके लक्षण बेहद हल्के होते हैं। इसमें बहुत कम मामलों में अस्पताल जाना पड़ता है और मौतें भी बहुत कम होती हैं।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co