दिल्ली: जमातियों ने डॉक्टरों से किया अभद्र व्यवहार और मारपीट
दिल्ली: जमातियों ने डॉक्टरों से किया अभद्र व्यवहार और मारपीsocial media

दिल्ली: जमातियों ने डॉक्टरों से किया अभद्र व्यवहार और मारपीट

दिल्ली में कोरोना से संक्रमित जमाती मरीज़ों का महिला डॉक्टर से अभद्र व्यवहार करने का मामला सामने आया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर सुरक्षा गार्ड और सुपरवाइजर को निलंबित किया।

राजएक्सप्रेस। दिल्ली के लोकनायक जयप्रकाश नारायण अस्पताल में जमाती मरीज द्वारा महिला डॉक्टर और अन्य स्टाफ से दुर्व्यवहार, मारपीट को धमकी देने का मामला सामने आया है। पुलिस ने शिकायत के आधार पर मामला दर्ज कर लिया है और प्रथम कार्यवाई के तोर पर सुरक्षा गार्ड और सुपरवाइजर को निलंबित किया।

मामला मंगलवार का है, जब अस्पताल में कोरोना के मरीज ने महिला डाॅक्टर से पहले तो दुर्व्यवहार और अपशब्द कहे, महिला डाॅक्टर विरोध करने पर कई मरीजों ने एकत्रित होकर मारपीट की धमकी दी और इतना ही नहीं महिला डॉक्टर की मदद के लिए जब वह एक पुरुष डॉक्टर आया तो उसके साथ मारपीट शुरू कर दी। इसके बाद डॉक्टरों ने ड्यूटी रूम में चुप कर किसी तरह अपनी जान बचाई। ये वाकया लोकनायक अस्पताल के सर्जिकल वार्ड का है। इस दौरान वहां मौजूद सुरक्ष गार्ड तक मदद के लिए नहीं आए।

समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक, बदसलूकी की शिकार महिला डॉक्टर को बचाने की कोशिश कर रहे पुरुष डॉक्टर के साथ मरीज़ को परिजनों ने मारपीट कि, उनकी हिंसा का आलम कुछ ऐसा था के डॉक्टरों और नर्सिंग स्टाफ को जान बचने के लिए ड्यूटी रूम में छिप पड़ा इसके बाद उन्होंने वहीं से सुरक्षाकर्मियों को संपर्क किया

वहीं लोकनायक जयप्रकाश नारायण अस्पताल की रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन (आइडीए) ने डॉक्टर्स से मारपीट को लेकर कड़ी निंदा व्यक्त करते हुए खत लिखा है, जिसमें मारपीट की घटना का पूरा विवरण दिया गया है।

इसके आलावा पूरे प्रकरण की जानकारी मिलने बाद दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बयान दिया है कि यह हमले का नहीं,बल्कि बदसलूकी का मामला है। इस मामले में केस दर्ज कर लिया गया है। इलाज के बाद आरोपी को पुलिस को सौंप दिया जाएगा। इस मामले के बाद अस्पताल में सुरक्षा बढ़ा दी गई है

आपको बता दें के ये दिल्ली में महिला डॉक्टर्स के बदसलूकी का पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी दिल्ली के हौजरानी इलाके में भी दो महिला डॉक्टरों से हाथापाई का मामला सामने आया था, जिसमें एक 44 वर्षीय व्यक्ति को गिरफ्तारी भी किया गया था। इसमें पड़ोसियों का आरोप था कि, ये डॉक्टर्स यहां आकर कोरोना वायरस फैलाती है। सफदरजंग रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन के कड़े रुख के बाद न केवल मामला दर्ज हुआ था, बल्कि बल्कि आरोपी की गिरफ्तारी भी हुई थी ।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर ।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co