जम्मू कश्मीर: पत्रकारों को धमकी देने के मामले में बड़ी कार्रवाई
जम्मू कश्मीर: पत्रकारों को धमकी देने के मामले में बड़ी कार्रवाईSocial Media

जम्मू कश्मीर: पत्रकारों को धमकी देने के मामले में बड़ी कार्रवाई, पुलिस की 10 स्थानों पर छापेमारी

जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) की पुलिस ने आतंकवादियों की तरफ से हाल ही में पत्रकारों को दी गई धमकी के मामले में श्रीनगर, अनंतनाग और कुलगाम में 10 स्थानों पर कई तलाश अभियान चलाये है।

श्रीनगर, भारत। केन्द्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) की पुलिस ने आतंकवादियों की तरफ से हाल ही में पत्रकारों को दी गई धमकी के मामले में श्रीनगर, अनंतनाग और कुलगाम में 10 स्थानों पर कई तलाश अभियान चलाये है। कश्मीर जोन पुलिस ने यह जानकारी दी है। पुलिस ने कहा कि, श्रीनगर, अनंतनाग और कुलगाम जिलों में तलाशी ली जा रही है।

जम्मू कश्मीर पुलिस ने ट्वीट किया, "श्रीनगर, अनंतनाग और कुलगाम में 10 स्थानों पर पत्रकारों को हालिया धमकी से संबंधित मामले की जांच के सिलसिले में बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान शुरू किया है।"

एक आतंकवादी संगठन ने पुलिस का मुखबिर होने का आरोप लगाते हुए, 12 से अधिक पत्रकारों की सूची जारी थी। इसके बाद इस सप्ताह की शुरुआत में पांच कश्मीरी पत्रकारों ने इस्तीफा दे दिया था।

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कही यह बात:

जम्मू -कश्मीर पुलिस ने कहा है कि, लश्कर-ए-तैयबा की शाखा 'द रेजिस्टेंस फ्रंट' (टीआरएफ) का धमकियों में हाथ है। पुलिस ने पहले ही गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम के प्रावधानों के तहत टीआरएफ के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली थी। एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने शुक्रवार को पत्रकारों को मिली आतंकवादी धमकियों की खबरों पर चिंता व्यक्त की और केंद्र शासित प्रदेश प्रशासन से पत्रकारों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का आग्रह किया है।

हाल ही में कुछ दिनों पहले एक दर्जन से अधिक पत्रकारों की सूची सार्वजनिक की गई थी, जिन पर सुरक्षा एजेंसियों के लिए काम करने का आरोप लगाया गया था। सूची में स्थानीय समाचार पत्रों के दो संपादकों के नाम भी शामिल हैं। इस घटनाक्रम की एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने निंदा की है।

गिल्ड ऑफ इंडिया ने इस मामले की निंदा करते हुए अपने एक बयान में कहा कि, "कश्मीर में पत्रकार अब खुद को राज्य के अधिकारियों के साथ-साथ आतंकवादियों के निशाने पर पाते हैं, जो कि 1990 के दशक में बढ़े हुए आतंकवाद के वर्षों की याद दिलाता है।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co