जम्मू-कश्मीर: पुलवामा में प्रवासी मजदूर को मारी गोली
जम्मू-कश्मीर: पुलवामा में प्रवासी मजदूर को मारी गोलीSocial Media

जम्मू-कश्मीर: पुलवामा में प्रवासी मजदूर को मारी गोली, तलाश अभियान जारी

Jammu and Kashmir Attack: जम्मू कश्मीर में प्रवासी मजदूरों पर हमले का सिलसिला जारी है। खबर आई है कि, जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों ने प्रवासी मजदूर को गोली मार दी। जिसके बाद यहां हड़कंप मच गया।

हाइलाइट्स-

  • पुलवामा में आतंकियों ने बनाया प्रवासी मजदूर को निशाना

  • पुलवामा में आतंकियों ने प्रवासी मजदूर को मारी गोली

  • आतंकी हमले में घायल प्रवासी मजदूर का नाम मुनीरूल इस्लाम है

  • मुनीरुल इस्लाम का अस्पताल में चल रहा है इलाज

  • पश्चिम बंगाल का रहने वाला है मुनीरुल

Jammu and Kashmir Attack: जम्मू कश्मीर में प्रवासी मजदूरों पर हमले का सिलसिला जारी है। आतंकियों ने एकबार फिर पुलवामा जिले में एक मजदूर को निशाना बनाया है। खबर आई है कि, जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों ने प्रवासी मजदूर को गोली मार दी। जिसके बाद यहां हड़कंप मच गया।

मिली जानकारी के अनुसार, जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों ने प्रवासी मजदूर को गोली मार दी। जिसके बाद उसे नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जानकारी के मुताबिक, आतंकी हमले में घायल मजदूर पश्चिम बंगाल का रहने वाला है।

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कही यह बात:

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने इस बारे में बात करते हुए बताया कि, "आतंकी हमले में घायल प्रवासी मजदूर का नाम मुनीरूल इस्लाम है। इस्लाम पश्चिम बंगाल के रहने वाले हैं और पुलवामा में काम करते हैं। उनपर पुलवामा के उगरगुंड नेवा में आतंकवादियों ने फायरिंग कर दी। उन्हें पुलवामा के जिला अस्पताल में एडमिट करवाया गया है, जहां उनकी हालत स्थिर है।"

पहले भी बना चुके हैं प्रवासी मजदूरों को निशाना:

बताते चलें कि, इससे पहले पिछले महीने अगस्त में आतंकियों ने प्रवासी मजदूरों को निशाना बनाया था। पुलवामा के गदूरा इलाके में प्रवासी मजदूरों पर ग्रेनेड से हमला किया गया था। इस वारदात में मौके पर ही एक मजदूर की मौत हो गई थी, जबकि दो अन्य गंभीर रूप से जख्मी हो गए थे। इस दौरान मरने वाले मजदूर मोहम्मद मुमताज बिहार सकवा के रहने वाले थे। वहीं, गंभीर रूप से जख्मी मोहम्मद आरिफ और मोहम्मद मजबूल बिहार के रामपुर के रहने वाले थे।

आपको बता दें कि, पिछले दिनों केंद्र सरकार ने संसद में बताया था कि, आतंकवादियों ने जम्मू कश्मीर में साल 2017 से लेकर 5 जुलाई 2022 तक 28 प्रवासी मजदूरों की हत्या की है। इनमें सबसे अधिक बिहार के सात मजदूर मारे गए हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co