Delhi Budget 2021: दिल्ली विधानसभा में पेश हुआ केजरीवाल का देशभक्ति वाला बजट
दिल्ली विधानसभा में पेश हुआ केजरीवाल का देशभक्ति वाला बजटSocial Media

Delhi Budget 2021: दिल्ली विधानसभा में पेश हुआ केजरीवाल का देशभक्ति वाला बजट

Delhi Budget 2021: दिल्ली विधानसभा में आज केजरीवाल सरकार का 7वां बजट 2021 वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने पेश किया, जानें इस बार के बजट में क्‍या है खास...

Delhi Budget 2021: देश की राजधानी व केंद्र शासित प्रदेश दिल्‍ली में इस साल 2021 का बजट पेश हो चुका है, जिसे दिल्ली के वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने विधानसभा में पेश किया। वित्त वर्ष 2021-22 के लिए पेश हुआ यह बजट दिल्ली की केजरीवाल सरकार का 7वां बजट है।

आज के बजट में क्‍या है खास :

दिल्ली विधानसभा में पेश हुए आज के बजट की सबसे खास बात तो ये है कि, इस बार विधानसभा में बजट डॉक्यूमेंट नहीं, बल्कि मनीष सिसोदिया टैब से बजट पढ़ रहे हैं। वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने बजट भाषण में क्‍या-क्‍या घोषणाएं की, आइये जानते हैं...

69,000 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित :

दिल्ली विधानसभा में वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने साल 2021-22 के लिए 69,000 करोड़ का बजट पेश कर इसे 'देशभक्ति-बजट' नाम दिया। बजट भाषण के दाैरान मनीष सिसोदिया ने कहा- ये बजट देशभक्ति बजट के नाम से पेश कर रहा हूं, आज़ादी के 75 साल पूरे होने पर अगले 75 हफ्ते तक देशभक्ति उत्सव मनाएंगे। साल 2047 में आज़ादी के 100 वें साल में दिल्ली कहां होगी इसको आधार बनाते हुए बजट पेश कर रहा हूं।

  • 2047 तक दिल्ली की आबादी क़रीब 3 करोड़ 28 लाख तक पहुंचने का अनुमान है। 2047 में इतनी बड़ी आबादी के लिए जो इंफ्रास्ट्रक्चर चाहिए होगा, उसकी नींव हम इस बजट में रखने जा रहे हैं।

  • मैं 2021-22 के लिए 69,000 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित कर रहा हूं। ये 2014-15 में 30,940 करोड़ रुपये की बजट राशि से दोगुने से ज़्यादा है।

  • दिल्ली सरकार का प्रति व्यय 2015-16 के 19,218 रुपये से बढ़कर इस साल 33,173 रुपये होने की उम्मीद है।

देशभक्ति पाठक्रम की शुरुआत :

बजट भाषण में मनीष सिसोदिया ने बताया- आज़ादी के 75वें वर्ष पर दिल्ली सरकार अपने स्कूलों में पढ़ रहे हर बच्चे को देशभक्ति के रंग में रंगने के लिए देशभक्ति पाठक्रम की शुरुआत करने जा रही है। इसके तहत हर रोज एक कक्षा देशभक्ति की होगी।

मैं आज़ादी के 75वें वर्ष में सदन में इस बजट को स्वतंत्रता सेनानियों को नमन करते हुए इसे "देशभक्ति बजट" के रूप में नामांकित करता हूँ। आज़ादी के वीर शहीदों के सपनों को आगे बढ़ाना सरकार का लक्ष्य है, दिल्ली सरकार 75 हफ्ते 'देशभक्ति महोत्सव' मनाएगी। पूरी दिल्ली को तिरंगे से सजाया जाएगा, आज़ादी के 75 साल में पूरी दिल्ली में 500 स्थानों पर शानदार लहराते हुए तिरंगे स्थापित करेगी केजरीवाल सरकार।
मनीष सिसोदिया

यहां देखें किस क्षेत्र के लिए कितने का बजट :

  • साल 2021-22 के लिए दिल्ली के स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए 9,934 करोड़ रुपये के बजट का प्रावधान हुआ, जो कुल बजट का 14% है। दिल्ली सरकार ने निर्णय लिया है कि, दिल्ली के लोगों को सरकारी अस्पतालों में कोरोना वैक्सीन मुफ़्त में लगाई जाएगी।

  • 16 हजार 377 करोड़ रुपए एजुकेशन बजट, जो कुल बजट का एक चौथाई है। स्पोर्ट्स टैलेंट के लिए स्पोर्ट्स यूनवर्सिटी बनाएंगे।

  • अंग्रेजी बोलने की कैपिसिटी बढ़ाने के लिए नई योजना शुरू की गई है। इंग्लिश स्पीकिंग का कोर्स कराने वाली अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं को इससे संबद्ध किया जाएगा, 10 लाख तक के लोन की गारंटी दिल्ली सरकार देती है।

  • डिप्टी CM मनीष सिसोदिया ने 3 हजार 274 करोड़ रुपए साफ पानी के लिए आवंटित करने का ऐलान किया है, जिससे दिल्ली की अवैध कॉलोनियों में रह रहे लोगों को साफ पानी मिल सकेगा।

  • दिल्ली में पेड़ काटने पर लगाम लगाई है, जिससे दिल्ली ग्रीन रहे, जितने पेड़ काटने हुए हैं, उनके एवज में 80 फीसदी तुरंत लगाने होंगे।

  • मेट्रो शुरू करने में हमने भले ही देरी की, लेकिन हम इसमें लगातार तरक्की कर रहे हैं। अब 10 लाइन्स हमारे पास हैं। दिल्ली में मेट्रो फेज 4 के लिए मंजूरी दे दी है।

  • 9324 करोड़ रुपए के लिए परिवहन बजट।

  • 4750 करोड़ के बजट सामाजिक सुधार की योजनाओं के लिए प्रावधान किया गया है।

    सामाजिक सुरक्षा और जनकल्याण के लिए काम करना जरूरी है, महिलाओं को रोजगार नहीं मिल पा रहा है। पढ़ी-लिखी महिलाओं को नौकरी दिलाने के लिए सहेली समन्वय योजना शुरू की जा रही है।

  • महिलाओं की सुरक्षा के लिए 500 करोड़ के बजट का प्रावधान का ऐलान किया गया है।

  • दिल्‍ली में बिजली सब्सिडी जारी रहेगी, जिसमें 200 यूनिट तक फ्री बिजली का लाभ दिल्लीवासी ले रहे हैं। इसके लिए 90 करोड़ रुपए प्रस्तावित किए गए हैं।

  • 3227 करोड़ रुपए दिल्ली के ऊर्जा क्षेत्र के लिए बजट में प्रावधान किया गया है।

सिसोदिया ने बताया आगे का क्‍या है लक्ष्‍य :

दिल्ली सरकार ने आज़ादी की सौंवी वर्षगांठ पर 2048 में 39वें ओलंपिक खेल की मेजबानी करने का लक्ष्य बनाया है। कम से कम 10 खेल क्षेत्रो में अंतर्राष्ट्रीय मेडल विजेता तैयार करने का लक्ष्य होगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co