J-K के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने आदिवासी चिकित्सा आपातकाल के लिए किया यह बड़ा ऐलान
मनोज सिन्हा ने आदिवासी चिकित्सा आपातकाल के लिए किया यह बड़ा ऐलानSyed Dabeer Hussain - RE

J-K के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने आदिवासी चिकित्सा आपातकाल के लिए किया यह बड़ा ऐलान

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने 'जनजातीय गौरव दिवस' के समापन समारोह के दौरान सभा को संबोधित कर कहा-आदिवासी समुदाय की मदद के लिए सरकारी हेलीकॉप्टर तैनात किये जाएंगे।

हाइलाइट्स :

  • जम्मू विश्वविद्यालय में 'जनजातीय गौरव दिवस' का समापन समारोह

  • समारोह में उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने सभा को संबोधित किया

  • आदिवासी समुदाय की मदद के लिए सरकारी हेलीकॉप्टर होंगे तैनात

जम्मू कश्‍मीर, भारत। केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में आज बुधवार को जम्मू विश्वविद्यालय में जनरल जोरावर सिंह सभागार में 'जनजातीय गौरव दिवस' के समापन समारोह का आयोजन हुआ, जिसमें जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा भी पहुंचे और उन्‍होंने इस समारोह में एक सभा को संबोधित भी किया।

सरकारी हेलिकॉप्टर किये जाएंगे तैनात :

इस दौरान जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने जम्मू विश्वविद्यालय में जनरल जोरावर सिंह सभागार में 'जनजातीय गौरव दिवस' के समापन समारोह में सभा को संबोधित करते वक्‍त आदिवासी चिकित्सा आपातकाल के लिए यह बड़ा ऐलान भी किया है कि, ''आदिवासी बहुल इलाकों में चिकित्सा संबंधी आपात स्थिति में सहायता के लिए सरकारी हेलिकॉप्टर तैनात किये जाएंगे।''

चिकित्सा संबंधी आपात स्थिति में आदिवासी समुदाय की मदद के लिए सरकारी हेलीकॉप्टर तैनात किये जाएंगे। हेलिकॉप्टर सुविधा से जरूरतमंदों को समय पर जांच और उपचार में मदद मिलेगी।

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा

जम्मू-कश्मीर की आदिवासी आबादी के समग्र विकास के लिए प्रतिबद्ध हैं :

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा द्वारा अपने संबोधन में यह भी कहा गया है कि, ''हम जम्मू-कश्मीर की आदिवासी आबादी के समग्र विकास के लिए प्रतिबद्ध हैं। प्रशासन ने आदिवासियों को आजीविका प्रदान करने और उनका सशक्तीकरण सुनिश्चित करने के लिए कई पहल की हैं।"

समृद्ध आदिवासी सांस्कृतिक विरासत का संरक्षण किया जाये :

सभा को संबोधित करते समय जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने अपने संबोधन के दौरान यह भी बताया कि, ''नये ट्रांजिट आवास, आदिवासी स्वास्थ्य योजना और स्मार्ट स्कूल निश्चित रूप से जीवन की गुणवत्ता में सुधार करेंगे। समय की जरूरत है कि, समृद्ध आदिवासी सांस्कृतिक विरासत का संरक्षण किया जाये और उसे बढ़ावा दिया जाये। संस्कृति न केवल व्यक्ति के जीवन को समृद्ध करती है बल्कि समुदाय को भी मजबूत करती है।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co