J-K बहुत बुरे दौर से गुजर रहा, बेरोजगारी के मामले में देश में दूसरे नंबर पर है: अब्दुल्ला
J-K बहुत बुरे दौर से गुजर रहा: अब्दुल्ला Social Media

J-K बहुत बुरे दौर से गुजर रहा, बेरोजगारी के मामले में देश में दूसरे नंबर पर है: अब्दुल्ला

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने कहा- जम्मू कश्मीर बहुत बुरे दौर से गुज़र रहा है। यहां हर रोज मुठभेड़ होती हैं जिसमें लोग मारे जाते हैं।

जम्मू कश्मीर, भारत। जम्मू कश्मीर के इलाकों में आतंकियों की कुछ न कुछ साजिशों के कारण उनके खिलाफ सुरक्षाबलों की कार्रवाई लगातार जारी हैं। कभी आतंकी कई इलाकों में ग्रेनेड हमला कर रहे हैं, तो कभी इलाकों में छुपकर रहे हैं, जिसकी सूचना मिलते ही भारतीय जवान उनके खिलाफ सर्च ऑपरेशन शुरू करते हैं और आए दिन केंद्र शासित प्रदेश में मुठभेड़ होती रहती है। इस बीच आज जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला का बयान आया है।

जम्मू-कश्मीर बहुत बुरे दौर से गुज़र रहा है :

इस दौरान जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने कहा- जम्मू कश्मीर बहुत बुरे दौर से गुज़र रहा है। यहां हर रोज मुठभेड़ होती हैं जिसमें लोग मारे जाते हैं। सेना को भी अपनी जान गंवानी पड़ती है। यहां पर्यटन अर्थव्यवस्था का एकमात्र विकल्प है। देश में जम्मू-कश्मीर बेरोज़गारी के मामले में दूसरे नंबर पर है।

तो वहीं, उमर अब्दुल्ला ने यह भी कहा है कि, ''भारत एक राष्ट्रभाषा के लिए बहुत विविध देश है। भारत का विचार यह है कि यह सभी को स्थान देता है। अगर भारतीय करेंसी नोट सभी भाषाओं को जगह देता है, तो यह समझा जाता है कि हम सिर्फ एक भाषा, संस्कृति और धर्म से बढ़कर हैं।''

इस साल मुठभेड़ों में 62 आतंकवादी मारे गए :

बता दें कि, जम्‍मू कश्मीर के इलाकों में सुरक्षाबलों और आतंकियों की मुठभेड़ होती रहती है, जिसमें अधिकतर आतंकियों को मार गिराया जाता है, लेकिन कभी-कभी गोलिबारी के दौरान देश के जवान भी शहीद हो जाते हैं। आईजीपी कश्मीर के हवाले से सामने आई जानकारी के अनुसार, ''इस साल अब तक मुठभेड़ों में 62 आतंकवादी मारे गए। लश्कर के 39 आतंकवादी, JeM के 15, HM के 6 और अल-बद्र के 2 आतंकवादी मारे गए। मारे गए कुल 62 आतंकवादियों में से 47 स्थानीय आतंकवादी और 15 विदेशी आतंकवादी थे।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.