दिल्ली में प्रदूषण की स्थिति में सुधार, सरकार ने हटाई पाबंदियां
दिल्ली में प्रदूषण की स्थिति में सुधार, सरकार ने हटाई पाबंदियांSocial Media

दिल्ली में प्रदूषण की स्थिति में सुधार, सरकार ने हटाई पाबंदियां

दिल्ली-NCR में जहरीली हवा से लोगों को थोड़ी राहत मिली है, प्रदूषण की स्थिति में सुधार होने पर प्रदूषण को लेकर लगाई गई पाबंदियां हटा दी गई है।

दिल्‍ली, भारत। प्रदूषण का स्तर बढ़ने के चलते राष्‍ट्रीय राजधानी कुछ पाबंदिया लगा दी गई थी,। अब दिल्‍ली में प्रदूषण की स्थिति में सुधार होने पर प्रदूषण को लेकर लगाई गई पाबंदियां हटा दी गई है।

जहरीली हवा से लोगों को मिली थोड़ी राहत :

दरअसल, दिल्ली-NCR में जहरीली हवा से लोगों को थोड़ी राहत मिली है। आज सोमवार को केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के एयर क्वालिटी बुलेटिन के मुताबिक, सोमवार को दिल्ली का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक (Delhi AQI) 349 रहा। इस बीच प्रदूषण में कमी के चलते दिल्ली सरकार के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai) ने हाईलेवल मीटिंग की, जिसमें अहम फैसला लेते हुए प्रदूषण के मद्देनज़र लगाई कई पाबंदियों को हटा लिया गया है। अब वर्क फ्राम होम खत्म हुआ, साथ ही बंद स्‍कूलों को भी खोले जाने का ऐलान कर दिया गया है।

दिल्ली सरकार के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा, प्रदूषण में कमी के मद्देनज़र दिल्‍ली सरकार ने Phase 3 के तहत लिए अहम फ़ैसले-

  • Primary School खोले जाएंगे

  • Trucks पर बैन हटाया

  • Extra Buses चलाई जाएंगी

  • Pvt Demolition-Construction पर बैन जारी

  • Pvt BS3 Petrol Vehicles पर बैन

  • Pvt BS4 Diesel Vehicles पर बैन

दिल्ली में हाईवे, सड़क, फ्लाईओवर, ओवरब्रिज, पाइपलाइन, बिजली पारेषण से संबंधित निर्माण कार्य पर लगी रोक भी हटाई ली गई है।

पर्यावरण मंत्री गोपाल राय

वर्क फ्राम होम खत्म :

इसके साथ ही दिल्‍ली सरकार द्वारा वर्क फ्राम होम खत्म करते हुए सरकारी कर्मचारियों के लिए वर्क फ्राम होम के नियम को संशोधित किया है एवं आज से ही पूरी क्षमता के साथ दफ्तरों में कामकाज जारी रखने का निर्देश भी दिया है।

इन गाड़ियों पर बंदिशें पहले की तरह ही जारी रहेेंगी :

रविवार को पिछले दिनों की तुलना में प्रदूषण में कमी के बाद सीएक्यूएम (CAQM) ने ग्रेप-4 में लगी पाबंदियां भी हटा दी हैं। तो वहीं, BS-3 पेट्रोल गाड़ियों, BS-4 डीजल गाड़ियों पर बंदिशें पहले की तरह ही आगे भी जारी रहेंगी, क्‍योंकि दिल्ली में ऐसे वाहनों की संख्या 5 लाख के आसपास है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co