श्रीनगर में एक स्‍कूल में घुसे आतंकी और टीचरों को गोलियों से भूना
श्रीनगर में एक स्‍कूल में घुसे आतंकी और टीचरों को गोलियों से भूनाSocial Media

श्रीनगर में एक स्‍कूल में घुसे आतंकी और टीचरों को गोलियों से भूना

श्रीनगर के ईदगाह इलाके में एक स्‍कूल के अंदर घुसकर आतंकियों की हरकतों ने चौंका दिया। आतंकियों ने 2 टीचरों को ताबड़तोड़ गोलियों से भून उन्‍हें मौत के घाट उतार दिया।

श्रीनगर, भारत। केंद्र शासित प्रदेश जम्‍मू कश्‍मीर में आतंकवादी गतिविधियां रूकने का नाम ही नहीं लेती, अब श्रीनगर के ईदगाह इलाके में एक स्‍कूल के अंदर घुसकर आतंकियों की हरकतों ने चौंका कर रख दिया।

आतंकियों ने 2 टीचरों को गोलियों से भूना :

बताया जा रहा है कि, श्रीनगर के ईदगाह इलाके में सरकारी स्कूल के अंदर आतंकियों ने 2 टीचरों को निशाना बनाया, उन्‍हें ताबड़तोड़ गोलियों से भून कर मौत के घाट उतार दिया गया और तुरंत भाग निकले। तो वहीं, प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो आतंकियों ने दोनों टीचरों का पहचान पत्र देखा और उसके बाद उनपर गोली चलाकर उनकी हत्या दी। आतंकियों ने पहचान पत्र देखकर पाया कि, महिला प्रिंसिपल कश्मीरी सिख समुदाय की हैं। तो वहीं टीचर कश्मीरी पंडित है। उन्होंने दोनों पर बंदूक से ताबड़तोड़ गोलियों बरसाकर दोनों को मार डाला और मौके से भाग निकले।

प्रत्यक्षदर्शियों की ओर से यह बताया कि, ''पिस्टल चलाने वाले तीन आतंकवादी संगाम ईदगाह बॉयज हायर सेकेंडरी स्कूल में सुबह करीब 10.30 बजे घुस गए। इन दिनों ऑफलाइन कक्षाएं चल रही हैं इसलिए स्कूल में कोई बच्चे नहीं थे। सिर्फ स्कूल के स्टाफ को सुबह कुछ घंटों के लिए बुलाया जा रहा था।''

बिल्डिंग से बाहर ले जाकर चलाई गा‍ेलियां :

मिली जानकारी के अनुसार, श्रीनगर के ईदगाह इलाके में सरकारी स्कूल में घुसे आतंकियों द्वारा सभी स्टाफ के पहचान पत्र चेक किए थे। चेकिंग के बाद आतंकियों ने 44 वर्षीय सुपिंदर कौर और उनके सहयोगी दीपक चंद को बिल्डिंग से बाहर ले जाकर उनपर गा‍ेलियां चला दी। इस दौरान दीपक चंद की तो तत्काल मौत हो गई, जबकि सुपिंदर कौर ने अस्पताल ले जाते समय दम तोड़ दिया।

बता दें कि, शहर के एक प्रमुख कश्मीरी पंडित व्यवसायी और बिहार के एक प्रवासी सड़क किनारे सामान बेचने वाले शख्स की हत्या के दो दिन बाद इन 2 टीचरों की हत्याएं हुई हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.